भाजपा सांसदों को सलाह, मोदी को गरीबों के मसीहा के रूप में पेश करो

नई दिल्ली| पुनः संशोधित मंगलवार, 7 फ़रवरी 2017 (15:02 IST)
नई दिल्ली। गरीब समर्थक अपनी छवि को मजबूती प्रदान करने के लिए भाजपा ने मंगलवार को कहा कि सरकार की सभी नीतियां गरीबों के कल्याण से संचालित हैं। साथ ही पार्टी ने अपने सांसदों से कहा है कि वे जनता के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को गरीबों के मसीहा के रूप में पेश करें।
 
केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने संसदीय दल की बैठक में पार्टी के सांसदों से कहा कि वे सरकार की उपलब्धियों और राष्ट्रपति द्वारा संसद के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करते हुए पेश किए गए सरकार के नजरिए को आम आदमी तक लेकर जाएं।
 
बैठक में प्रधानमंत्री मोदी और पार्टी के अन्य शीर्ष नेताओं की मौजूदगी में उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि बजट और सरकार की सभी नीतियां गरीबों और समाज के कमजोर तबके की चिंताओं से प्रेरित हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गरीबों के मसीहा हैं। आप इस संदेश को हर घर तक लेकर जाएं।
 
बैठक के बाद संवाददाताओं को इसकी जानकारी देते हुए संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने संसद के कामकाज पर संतोष जाहिर किया जहां कल दोनों में से लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पेश धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में 9 घंटे से अधिक का समय चर्चा में लगाया गया।
 
उन्होंने विश्वास जताया कि मजदूरी के भुगतान, शत्रु संपत्ति और नोटबंदी से संबंधित तीन विधेयक संसद में पास होंगे। उन्होंने कहा कि ये विधेयक सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेशों के स्थान पर लाए गए हैं।
 
इस बैठक में वित्त मंत्री अरूण जेटली ने डिजिटल भुगतान को आगे बढ़ाने के लिए पिछले 45 दिनों से जारी सरकार के प्रयासों के बारे में विस्तार से बताया और कहा कि शिलोंग में आज डिजिधन मेले का आयोजन किया जा रहा है।
 
उन्होंने बताया कि डिजिटल रूप में भुगतान करने वालों के लिए निकाले गए लकी ड्रा में सरकार द्वारा कारोबारियों समेत साढ़े छह लाख लोगों को पुरस्कार दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इन डिजिधन मेलों में दस लाख से अधिक लोग आए हैं। (भाषा) 



और भी पढ़ें :