Reliance Industries को दूसरी तिमाही में 2.1 अरब डॉलर का मुनाफा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 22 अक्टूबर 2021 (22:27 IST)
मुंबई। पेट्रोलियम, दूरसंचार और रिटेल आदि क्षेत्रों में करने वाली देश की सबसे बड़ी निजी कंपनी इंडस्ट्रीज ने की दूसरी तिमाही में 2.1 अरब डॉलर अर्थात 15479 करोड़ रुपए का सकल शुद्ध लाभ अर्जित किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 46 प्रतिशत अधिक है।
कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक के बाद जारी तिमाही वित्तीय लेखा-जोखा में कहा गया है कि कंपनी के हर क्षेत्र के कारोबार का प्रदर्शन बेहतर रहा है। इसके बाद पर मुनाफे में यह बढ़ोतरी हुई है। कंपनी की डिजिटल सेवाओं का राजस्व पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के राजस्व की तुलना में 7.4 प्रतिशत बढ़कर 24362 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इसी तरह से रिलायंस रिटेल का राजस्व भी इस अवधि में 10.5 प्रतिशत बढ़कर 45450 करोड़ रुपए हो गया।

कंपनी ने कहा कि इस तिमाही में उसका सकल राजस्व 68.8 प्रतिशत बढ़कर 108750 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी ने 59 प्रतिशत अधिक 54844 करोड़ रुपए अर्थात 7.4 अरब डॉलर का निर्यात किया है।

कंपनी ने कहा कि रिलायंस जियो ने इस तिमाही में 15.2 प्रतिशत अधिक 23222 करोड़ रुपए का राजस्व अर्जित किया है और उसने 23.5 प्रतिशत अधिक 3728 करोड़ रुपए का लाभ कमाया है। 30 सितंबर तक रिलायंस जियों के ग्राहकों की संख्या 42.95 करोड़ पर पहुंच गई और इस दौरान उसने 2.38 करोड़ नए ग्राहक जोड़े हैं। दूसरी तिमाही में कंपनी के 23 अरब जीबी डेटा का ट्रैफिक रहा है।
Reliance Industries" width="740" />

रिलायंस रिटेल का राजस्व 10.5 प्रतिशत बढ़कर 45426 करोड़ रुपए पर पहुंच गया और इस कारोबार का मुनाफा 74.2 प्रतिशत की बढ़त के साथ 1695 करोड़ रुपए पर रहा। पूरे देश में कंपनी के 13635 स्टोर चल रहे हैं और इस तिमाही में 813 स्टोर शुरू किए गए हैं।

कंपनी के प्रदर्शन पर उसके अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने दिवाली की शुभकामनाएं देते हुए उम्मीद जताई कि कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी को हम जल्द ही दूर छोड़ देंगे। उन्होंने कहा कि सभी क्षेत्रों के उत्पादों की मांग में तीव्र सुधार हुआ है, जिससे कंपनी का प्रदर्शन सुधरा है।

उन्होंने कहा कि रिलायंस का दूसरी तिमाही में प्रदर्शन बहुत ही उत्साहवर्धक रहा है। अब उनकी कंपनी का कारोबार कोरोना के पूर्व स्तर पर पहुंचने लगा है। अंबानी ने कहा कि उनकी कंपनी वर्ष 2035 तक कार्बन शून्य उत्सर्जन की ओर बढ़ रही है और इस महत्वयकांक्षी लक्ष्य को हासिल किया जाएगा।
मुख्‍य बिंदु...
  • रिलायंस का कंसोलिडेटिड EBITDA 30.0% (YoY) बढ़कर रिकॉर्ड रुपए 30,283 करोड़ ($4.1 बिलियन) दर्ज किया गया, O2C, तेल और गैस, डिजिटल सेवाओं और रिटेल में दमदार प्रदर्शन रहा।
  • रिलायंस इंजस्ट्रीज़ कोविड संकट से मज़बूत होकर उभरी, वार्षिक EBITDA रन-रेट 1.2 लाख करोड़ रुपए के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर जा पहुंचा।
  • तिमाही का रिकॉर्ड कंसोलिडेटिड शुद्ध लाभ 46.0% (YoY) से बढ़कर रुपए 15,479 करोड़ ($2.1 बिलियन) रहा
  • तिमाही का कंसोलिडेटिड EPS 40.7% (YoY) की वृद्धि के साथ रुपए 20.9 प्रति शेयर दर्ज किया गया।

  • रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की डिजिटल सर्विसेज़ ने रुपए 9,561 करोड़ का रिकॉर्ड EBITDA दर्ज किया है जो पिछले साल के मुकाबले 14.6% ज़्यादा है। डिजिटल सर्विसेज़ का तिमाही का राजस्व पिछले साल के मुकाबले 7.4% बढ़कर रिकॉर्ड रुपए 24,362 रहा।
  • रिलायंस रिटेल का राजस्व कोविड के पूर्व स्तर तक पहुंच गया है। इस तिमाही में सकल बिक्री रुपए 45,426 करोड़ ($6.1 billion) रही, जो कि 10.5% ज़्यादा है।
  • रिलायंस रिटेल का EBITDA इस तिमाही में रुपए 2,913 करोड़ ($392 million) रहा जो पिछले साल के मुकाबले 45.2% ज़्यादा है, तिमाही का नेट मुनाफ़ा रुपए 1,695 crore ($228 million) रहा जो पिछले साल के मुकाबले 74.2% ज़्यादा है।
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के प्रत्येक कर्मचारी को वर्ष 2021-22 में कोविड वैक्सीन का पहला डोज़ लग चुका है, मिशन वैक्सीन सुरक्षा के अंतर्गत रिलायंस के 96% कर्मचारियों को दोनों टीके लग चुके हैं।
  • रिलायंस अपने न्यू एनर्जी बिज़नेस में अच्छी प्रगति कर रहा है, हाल ही में की गई पार्टनरशिप और कोलैबरेशन की घोषणाओं से स्पष्ट है कि रिलायंस अपने वादों को पूरा करने को लेकर प्रतिबद्ध है।
  • जियो प्लेटफॉर्म्स का तिमाही कंसोलिडेटिड शुद्ध लाभ 23.5% (YoY) बढ़कर रुपए 3,728 करोड़ ($502 मिलियन) दर्ज किया गया।
  • जियो का ग्राहक-आधार 30 सितंबर 2021 तक 42 करोड़ 95 लाख जा पहुंचा था। ग्राहक संख्या में 2 करोड़ 38 लाख की शुद्ध बढ़ोत्तरी हुई।
  • जियो ने पिछली सात तिमाहियों में सबसे अधिक ग्राहक जोड़े, ग्राहक-आधार में 3 करोड़ 56 लाख की कुल वृद्धि दर्ज़ की गई।
  • पिछली तिमाही के रुपए 138.4 के मुकाबले दूसरी तिमाही में जियो का ARPU रुपए 143.6 प्रति ग्राहक प्रति माह दर्ज किया गया। Jio Fiber के व्यवसाय में भी इस तिमाही में अच्छी प्रगति देखी गई।
  • तिमाही के दौरान कुल डेटा खपत 23.0 बिलियन GB थी, जो सालाना आधार पर 50.9% अधिक है। वॉयस ट्रैफिक 17.6% (YoY) की वृद्धि के साथ 1.09 ट्रिलियन मिनट रहा।



और भी पढ़ें :