आटा, दूध-दही पर टैक्स वसूलने वाली क्रूर सरकार कह रही है कि महंगाई नहीं है...

Last Updated: शुक्रवार, 5 अगस्त 2022 (17:34 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आटा, दूध और दही पर भी टैक्स वसूलने वाली क्रूर सरकार कह रही है कि महंगाई नहीं है। अगर महंगाई नहीं है तो गैस सिलेंडर देखकर BJP को इतना डर क्यों लग रहा है?

महंगाई के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन के बीच प्रियंका ने ट्‍वीट कर कहा कि हमें गिरफ्तार करके जनता से ये सच कैसे छुपाओगे कि 2014 में जो सिलेंडर 410 रुपए का था उसे 1100 रुपए करने वाली लूट को ही महंगाई कहते हैं।

काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन : उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने महंगाई, बेरोजगारी और कई खाद्य वस्तुओं को जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) के दायरे में लाए जाने के खिलाफ शुक्रवार को प्रदर्शन किया, जिसके बाद पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। पार्टी के प्रदर्शन में शामिल हुए नेताओं ने काले रंग के कपड़े पहन रखे थे।
प्रधानमंत्री आवास घेरने की योजना : राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस सांसदों ने संसद भवन से राष्ट्रपति भवन के लिए मार्च निकाला। हालांकि, पुलिस ने उन्हें बीच में ही रोक दिया और हिरासत में ले लिया। कांग्रेस के राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन की घोषणा की थी। इसके तहत कांग्रेस कार्य समिति के सदस्यों एवं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की प्रधानमंत्री आवास का ‘घेराव करने’ की योजना थी। पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ता इसी के लिए कांग्रेस मुख्यालय में जमा हुए थे।
काले रंग की सलवार-कमीज ओर दुपट्टा पहने प्रियंका पार्टी मुख्यालय के सामने पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधक को लांघकर दूसरी तरफ पहुंचीं और सड़क पर धरने पर बैठ गईं। कुछ देर बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

जो डरते हैं, वही डराते हैं : कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा कि आज एक बार फिर कांग्रेस सांसदों को महंगाई, बेरोजगारी और जीएसटी के खिलाफ प्रदर्शन करने के लोकतांत्रिक अधिकार से वंचित कर दिया गया। विजय चौक पर हमें पुलिस वैन में भर दिया गया। एक चीज साफ है, जो डरते हैं, वही डराने का प्रयास करते हैं!



और भी पढ़ें :