2013 में 7 धमाकों से दहल गया था पटना, 6 लोगों की गई थी जान

उस दिन पटना में एक के बाद एक 7 धमाके हुए थे। इनमें 6 धमाके रैली स्थल गांधी मैदान एवं एक धमाका पटना स्टेशन पर हुआ था। ये धमाके उस वक्त हुए थे जब गांधी मैदान में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार (अब प्रधानमंत्री) नरेन्द्र मोदी भाजपा की रैली को संब

Last Updated: सोमवार, 1 नवंबर 2021 (16:52 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। वर्ष 2013 में नरेन्द्र मोदी की हुंकार रैली में पटना समेत हुए धमाकों न सिर्फ पटना बल्कि पूरा बिहार दहल गया था। हालांकि जिस समय धमाके हुए थे, उस समय मोदी वहां नहीं पहुंचे थे। इन धमाकों में 6 लोगों की मौत हुई थी।


उस दिन पटना में एक के बाद एक 7 धमाके हुए थे। इनमें 6 धमाके रैली स्थल गांधी मैदान एवं एक धमाका पटना स्टेशन पर हुआ था। ये धमाके उस वक्त हुए थे जब गांधी मैदान में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार (अब प्रधानमंत्री) नरेन्द्र मोदी भाजपा की रैली को संबोधित करने वाले थे। उस पटना का गांधी मैदान श्रोताओं की भीड़ से खचाखच भरा हुआ था। हालांकि तब तक प्रधामंत्री रैली स्थल पर नहीं पहुंचे थे। इन धमाकों के बावजूद नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित किया था।
लगातार हुए 7 धमाके :
सबसे पहला धमाका सुबह 9:30 बजे राजधानी पटना के रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 10 पर स्थित एक शौचालय में हुआ था।

दूसरा धमाका सुबह 11:40 बजे गांधी मैदान के बाहर उद्योग भवन के पास हुआ जबकि तीसरा धमाका दोपहर 12 बजकर 5 मिनट पर गांधी मैदान के बाहर रीजेंट सिनेमा के पास हुआ।
चौथा विस्फोट दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर गांधी मैदान में बापू की पुरानी प्रतिमा के पास हुआ, पांचवा इसके ठीक 5 मिनट बाद यानी 12 बजकर 15 मिनट पर गांधी मैदान के दक्षिणी हिस्से में ट्विन टावर के पास हुआ। अगला धमाका यानी छठा विस्फोट भी 5 मिनट के अंतराल पर 12 बजकर 20 मिनट पर गांधी मैदान के पश्चिमी हिस्से में स्टेट बैंक के पास हुआ। 12 बजकर 45 मिनट पर सातवां धमाका हुआ, जो कि गांधी मैदान के बाहर चिल्ड्रन पार्क के पास हुआ।

4 फांसी की सजा : एनआईए कोर्ट ने इस मामले में 4 आतंकियों को फांसी की सजा सुनाई गई है। इसके अतिरिक्त अदालत ने 2 दोषियों को उम्रकैद। 2 दोषियों को 10-10 साल की सजा सुनाई गई है।




और भी पढ़ें :