शुक्रवार, 22 सितम्बर 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Offer to make BJP MLA a minister in Maharashtra for Rs 90 crore
Written By
Last Updated : बुधवार, 20 जुलाई 2022 (23:29 IST)

महाराष्ट्र में भाजपा विधायक को 90 करोड़ में मंत्री बनाने की पेशकश, पुणे से 4 आरोपी गिरफ्तार

मुंबई। मुंबई पुलिस ने 90 करोड़ रुपए में महाराष्ट्र के नवगठित मंत्रिमंडल में जगह दिलाने के नाम पर भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक को ठगने के प्रयास के आरोप में पुणे जिले से 4 लोगों को गिरफ्तार किया है।विधायक राहुल कुल की शिकायत के आधार पर इन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि मुंबई अपराध शाखा के जबरन वसूली रोधी प्रकोष्ठ ने दौड विधानसभा सीट से विधायक राहुल कुल की शिकायत के आधार पर इन लोगों को गिरफ्तार किया है। अपराध शाखा के अधिकारी ने बताया कि आरोपियों की पहचान रियाज शेख (41), योगेश कुलकर्णी (57), सागर सांगवाई (37) व जफर अहमद राशिद अहमद उस्मानी (53) के रूप में हुई है।

उन्होंने कहा, शेख ने पिछले सप्ताह विधायक से संपर्क किया था, लेकिन उन्होंने कॉल का जवाब नहीं दिया। इसके बाद आरोपी ने उनके निजी सहायक से संपर्क कर कहा कि वह विधायकों से मिलने दिल्ली से मुंबई आया है। उसके अनुरोध पर उन्होंने शेख और कुल के बीच नरीमन पॉइंट पर एक बैठक की व्यवस्था की। वहां शेख ने कुल को मंत्रिमंडल में स्थान की पेशकश की, लेकिन बदले में 100 करोड़ रुपए मांगे।

अधिकारी ने कहा कि विधायक ने दिखावा किया कि वह डील के लिए तैयार है और बाद में 90 करोड़ रुपए में बात तय हुई। अधिकारी ने कहा, शेख ने कुल राशि के 20 प्रतिशत यानी 18 करोड़ रुपए पहले देने को कहा। इसी के अनुसार कुल ने शेख को पैसे लेने के लिए एक होटल में बुलाया और मुंबई पुलिस के शीर्ष अधिकारियों को भी इसकी जानकारी दे दी।

सोमवार दोपहर जब शेख एडवांस राशि लेने होटल आया तो उसे पकड़ लिया गया। कुल, उनका निजी सहायक और भाजपा के एक और विधायक जयकुमार गोरे भी वहां मौजूद थे। पूछताछ के दौरान शेख ने अन्य आरोपियों का नाम लिया, जिन्हें मंगलवार तड़के दक्षिण मुंबई के नागपाड़ा और पड़ोसी ठाणे से गिरफ्तार कर लिया गया।

अधिकारी ने कहा कि कुलकर्णी और सांगवाई को ठाणे से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने नागपाड़ा के रहने वाले उस्मानी का नाम लिया है। अधिकारी ने कहा कि आरोपियों को गिरफ्तार कर भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया। मामले की जांच जारी है।(भाषा) 
ये भी पढ़ें
भारतीय नौसेना के विमान वाहक पोत INS विक्रमादित्य में आग की घटना