मंगलवार, 23 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. khargone ram navami violence who is behind the conspiracy
Written By
Last Updated : मंगलवार, 12 अप्रैल 2022 (18:39 IST)

Khargone : रामनवमी पर कहां से आए 'साजिश के पत्थर'? क्या पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भड़क रही है नफरत की आग?

Khargone : रामनवमी पर कहां से आए 'साजिश के पत्थर'? क्या पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भड़क रही है नफरत की आग? - khargone ram navami violence who is behind the conspiracy
रामनवमी पर देशभर के कई राज्यों में जुलूस निकाला जा रहा था। जुलूस के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने की साजिश की गई। मध्यप्रदेश, झारखंड, गुजरात जैसे राज्यों में जुलूस पर पथराव किए गए। रमजान के पवित्र महीने के बीच राम के जन्मोत्सव पर दो पक्षों में दरार डालकर माहौल को अंशात करने की साजिश आखिर किसने बनाई। एमपी के खरगोन से लेकर झारखंड के दुमका और लोहरदगा तक में हिंसा भड़काया गया। रामनवमी पर कई जगहों से सौहार्दभरी खबरें भी आईं कि मुस्लिम पक्ष ने रामनवमी के जुलूस का फूलों से स्वागत किया।  
 
मध्यप्रदेश के खरगोन में रामनवमी जुलूस के दौरान पथराव हुआ है। इस जुलूस में दिल्ली भाजपा के नेता कपिल मिश्रा भी शामिल होने आए थे। जुलूस के दौरान डीजे बजाने को लेकर एक समाज के लोगों ने विरोध किया। इसके बाद छतों से पत्थरबाजी शुरू हो गई है। साथ ही पेट्रोल बम भी फेंके गए हैं। 
जिला प्रशासन इसे लेकर जांच कर रही है कि क्या इस नापाक साजिश की पहले से ही तैयारी की गई थी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भी पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं। सरकारें इस बात की भी जांच कर रही है कि आखिर साजिश के ये 'पत्थर' कहां से आए। 
क्या अंतरराष्ट्रीय साजिश : देश में दंगे कराने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साजिश रची जा रही है? पाकिस्तान और अफगानिस्तान से ऑपरेट हो रहे तमाम ऐसे ट्विटर हैंडल हैं, जिनसे भारतीय मुस्लिमों को भड़काने के लिए फर्जी वीडियो या फोटो डालकर फेक सूचनाएं दी जा रही हैं। 
 
पाकिस्तान और अफगानिस्तान के तमाम ट्विटर हैंडलों से ऐसे हजारों ट्वीट इस बात के सबूत हैं कि किस तरह भारतीय मुस्लिमों के मन में हिन्दुओं के प्रति नफरत के बीज बोए जा रहे हैं। बिना घटना या जगह की जानकारी दिए इन वीडियो या फोटो के जरिए पाकिस्तानी मशीनरी भारत को बदनाम करते हुए आपसी सौहार्द बिगाड़ने की साजिश रच रही है। खुद को भारत के मुस्लिमों के रहनुमां बनने वाले इन ट्विटर हैंडल्स में से एक भी भारत में नहीं है।
कट्टरवादी सोच से खतरा : मध्यप्रदेश के खरगोन में हुई हिंसा को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि रामनवमी या किसी जुलूस पर बार-बार पत्थरबाजी की घटना कोई संयोग नहीं बल्कि प्रयोग है। उन्होंने कहा कि मैं बार-बार कहता रहा हूं कि मुस्लिमों की बढ़ती आबादी देश के लिए खतरा नहीं है बल्कि कट्टरवादी सोच देश के लिए खतरा है।
मकानों पर बुलडोजर से भड़के ओवैसी : मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार के बुलडोजर चलाने पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भड़क गए। एक चैनल को इंटरव्यू में ओवैसी ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने किस कानून के तहत मुस्लिम समुदाय के घरों को ध्वस्त कर दिया है? यह स्पष्ट रूप से मुस्लिम अल्पसंख्यकों के प्रति मुख्यमंत्री के पक्षपाती रवैये को दर्शाता है। ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मध्यप्रदेश, गुजरात, गोवा, कर्नाटक में जो भी हुआ वहां की सरकारों की रजामंदी से किया गया।
ये भी पढ़ें
इलेक्ट्रिक स्कूटरों में लगी भीषण आग, 20 वाहन जलकर हुए खाक