Weather update : महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी

Last Updated: सोमवार, 10 अगस्त 2020 (00:55 IST)
नई दिल्ली। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने रविवार को कहा कि के कई इलाकों में भारी का अनुमान है। बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम तथा इससे सटे हुए पश्चिम-मध्य के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने से महाराष्ट्र के कई हिस्सों में तेज बारिश का अनुमान है।
मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को विदर्भ क्षेत्र में भारी बारिश का अनुमान है जबकि मध्य महाराष्ट्र में गरज के साथ छीटें पड़ सकते हैं। उन्होंने बताया कि मुंबई तथा पश्चिमी तट के अन्य हिस्सों में 50-60 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।

विभाग ने सुबह में बताया था कि मुंबई और तटीय महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों में सोमवार से दक्षिण-पश्चिम मानसून के फिर से सक्रिय होने की संभावना है। पिछले दो दिनों में मुंबई तथा पड़ोसी इलाकों में मध्यम बारिश हुई है।
विभाग के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि मुंबई में बुधवार को रिकॉर्ड बारिश हुई और पिछले 2 दिनों में महानगर और उपनगरों में 20 मिलीमीटर से 45 मिलीमीटर तक बारिश हुई।
दिल्ली में हल्की बारिश से तापमान में गिरावट : राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में रविवार को बारिश होने से पारा कुछ नीचे गिरा। भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक आईजीआई हवाई अड्डे, द्वारका, सफदरजंग और बहादुरगढ़ सहित कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई।

सफदरजंग वेधशाला के अनुसार 1 मिमी बारिश हुई है, रिज और लोधी रोड ने क्रमश: 7 और 1.6 मिमी वर्षा दर्ज की है। मौसम विभाग ने बताया क बारिश से तापमान गिरकर 35 डिग्री सेल्सियस हो गया है। विभाग का कहना है कि दिल्ली में बुधवार को हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है।

मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि मानसून उत्तर की तरफ बढ़ेगा और रविवार से बुधवार तक दिल्ली-एनसीआर के आसपास रहेगा।
उन्होंने कहा कि ‘इस दौरान अरब सागर से दक्षिण-पश्चिम की तरफ हवाएं चलेंगी और बंगाल की खाड़ी से आने वाली हवाएं हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, पश्चिमी उत्तरप्रदेश के इलाकों में पहुंचेंगी। श्रीवास्तव ने कहा कि इसके परिणामस्वरूप एक या दो बार भारी बारिश के बाद दिल्ली में मध्यम बारिश होगी।

इन राज्यों में बारिश का अनुमान : पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, हरियाणा, उत्तर पंजाब, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई गई है। विभाग ने कहा कि पश्चिमी राजस्थान को छोड़कर उत्तर-पश्चिम भारत में अच्छी-खासी बारिश होने की संभावना है।
सफदरजंग वेधशाला में अगस्त में सामान्यत: 83.7 मिमी की तुलना में 20.9 मिमी बारिश दर्ज की गई है, यानी कुल 75 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। पालम और लोधी रोड के मौसम केंद्रों में इस महीने 40 फीसदी और 76 फीसदी कम बारिश दर्ज की गई है।



और भी पढ़ें :