यूपी में दुर्गा पूजन पंडाल में भीषण आग, 5 की मौत, 50 से ज्यादा लोग झुलसे

fire in bhadohi
भदोही, उत्तर-प्रदेश के भदोही जिले में भवानी पूजन के समय दुर्गा पूजा पंडाल में आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। प्रथमदृष्टया आग लगने का कारण जेनरेटर से शार्ट सर्किट माना जा रहा है, जिसके चलते पूरा पंडाल धू-धूकर जल उठा। आग की चपेट में आने से लोग बचने के लिए भागने लगे, पूजा पंडाल में लगे पर्दे और बल्लियां देवी के भक्तों पर गिर गई।

आग की चपेट में आने से अब तक 5 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 50 के करीब लोग झुलस गए है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। 13 लोगों की गंभीर अवस्था के चलते उन्हें वाराणसी के कबीर चौरा अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रविवार की रात्रि में औराई क्षेत्र के उगापुर गांव में दुर्गा पूजा का आयोजन एक पंडाल में किया गया था। दुर्गा पूजन के लिए गांव के 150 से अधिक लोग सम्मलित हुए, सभी मां भवानी की भक्ति में लीन थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक अचानक से पूजास्थल के समीप आग लग गई, देखते ही देखते आग विकराल रूप ले लिया। आग की लपटों से बचने के लिए सड़क की छरफ भागने लगे। इसी भगदड़ में पड़ाल के पर्दे-बल्लियां भक्तों पर गिर गई और पर झुलस गए। लोगों की चींख-पुकार सुनकर आसपास के लोग मदद के लिए दुर्गा पूजा पंडाल के पास पहुंचे।

दुर्गा पंडाल के पीछे की तरफ एक तालाब था और लोगों सड़क पर निकलने के लिए एक ही गेट बनाया गया था। भीड़ ज्यादा होने के कारण बाहर निकलने के लिए जगह कम पड़ गई और लोग आग की चपेट में आ गए। आग लगने की सूचना पर जिला मुख्यालय और औराई से दो गाड़ियां मौके पर पहुंची। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को पहुंचने में लगभग एक घंटे का समय लग गया। घायलों को ग्रामीणों और पुलिस-प्रशासन के लोगों ने ट्रालियों से
सीएचसी पहुंचाया।

झुलसे लोगों की संख्या अधिक होने के चलते आसपास के नर्सिंग होम में पीड़ितों को भर्ती कराया गया। मृतकों में महदेवा गांव की एक वर्षीय गुंजा, पांच वर्षीय अंकुश, 45 वर्षीय जया देवी और 18 साल की शिवांगी व अन्य शामिल है। अधिक झुलसे 13 लोगों को वाराणसी रेफर किया गया और 37 लोगों को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। घायलों में औराई, महादेवा, उपरौठ, घोसिया, सेउर, जेठपुर, उवेठा, पियोरपुर और भवानीपुर गाव के लोग शामिल है।

मिली जानकारी के मुताबिक प्रशासन से दुर्गा पूजन के आयोजन की कोई अनुमति नही ली गई थी। दुर्गा पूजन समिति के पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जांच के लिए एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है, जो इस पूरे प्रकरण की जांच कर रही है। जांच टीम को पंडाल में हैलोजन के पास से आग लगने के साक्ष्य मिले है। अधिकारियों का कहना है कि आग के कारणों की जांच की जा रही है, बिना अनुमति आयोजन कैसे हुआ इसकी जांच हो रही है, जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नही जायेगा।
Edited : By Navin Rangiyal



और भी पढ़ें :