बुधवार, 24 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Coronavirus mutated 223 times, no longer dangerous
Last Updated : शुक्रवार, 9 फ़रवरी 2024 (18:17 IST)

कोरोनावायरस का 223 बार म्यूटेशन हुआ, अब खतरनाक नहीं

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा- इन्फ्लुएंजा की तरह बना रहेगा वायरस

Mansukh Mandavia
Coronavirus mutated 223 times: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने शुक्रवार को लोकसभा में कहा कि कोरोनावायरस का दुनियाभर में 223 बार उत्परिवर्तन (Mutation) हुआ है और इसके घातक प्रभाव समय के साथ कम हुए हैं। मांडविया ने लोकसभा में कहा कि कोविड-19 अब इन्फ्लुएंजा की तरह बना रहेगा और इसके मौजूदा स्वरूप घातक नहीं हैं।
 
उन्होंने कहा कि जब किसी वायरस का 100 से अधिक उत्परिवर्तन होता है तो इसके घातक प्रभाव कम हो जाते हैं। कोविड के वायरस का भी उत्परिवर्तन हुआ है। अब तक कोविड का वायरस 223 बार उत्परिवर्तित हो चुका है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इन्फ्लुएंजा की तरह, जो हर साल एक या दो बार लोगों को प्रभावित करता है, ‘कोविड हमारे साथ है और रहेगा’।
 
भारत में 121 नए मामले : भारत में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 121 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ कोरोनावायरस से संक्रमित उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 856 हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोनावायरस संक्रमण से एक मरीज की मौत हुई है।
 
पिछले साल 5 दिसंबर तक कोविड-19 के दैनिक मामलों की संख्या दोहरे अंकों तक सिमट गई थी, लेकिन कोरोना के नए स्वरूप और ठंड की वजह से संक्रमण के मामलों में वृद्धि दर्ज की गई। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 5 दिसंबर के बाद एक दिन में सर्वाधिक 841 मामले 31 दिसंबर को सामने आए थे।
नए मामलों में वृद्धि नहीं : एक अधिकारिक सूत्र ने कहा कि वर्तमान में उपलब्ध आंकड़ों से पता चलता है कि जेएन-1 स्वरूप की वजह से न तो नए मामलों में तेज वृद्धि हुई है और न ही अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। कुल उपचाराधीन मरीजों में से 92 प्रतिशत मरीजों का इलाज घर पर ही चल रहा है।
 
देश में कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप के कारण अप्रैल-जून 2021 में महामारी की स्थिति भयावह हो गई थी और उस दौरान 7 मई 2021 को देश में एक दिन में संक्रमण के सबसे अधिक 4,14,188 नए मामले सामने आए थे और कोविड-19 संक्रमण से 3,915 लोगों की मौत हुई थी।
 
देशभर में 2020 की शुरुआत से अब तक लगभग चार वर्ष में कोविड-19 से साढ़े 4 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा इनसे 5.30 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है।
 
स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या 4.40 करोड़ से अधिक है और इस संक्रमण से ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.81 प्रतिशत है। मंत्रालय ने बताया कि देश में कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक टीके की कुल 220.67 करोड़ से अधिक खुराकें लोगों को दी जा चुकी हैं। (भाषा/वेबदुनिया)
Edited by: Vrijendra Singh Jhala
 
ये भी पढ़ें
प्रतिदिन 15 KM बिछाई जा रहीं रेल पटरियां, राज्यसभा में बोले रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव