केरल के चर्च का दावा, ईसाई लड़कियों को लव जिहाद के जाल में फंसाकर आतंक के लिए इस्तेमाल कर रहा है IS

Last Updated: गुरुवार, 16 जनवरी 2020 (19:27 IST)
कोच्चि। के एक प्रभावशाली कैथोलिक के बयान से हड़कंप मच गया कि 'लव जेहाद' एक हकीकत है'। साथ ही चर्च ने यह आरोप भी लगाया कि में ईसाई समुदाय की कई महिलाओं को के जाल में फंसाया जा रहा है और उनका इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए हो रहा है।
की सर्वोच्च संस्था द सायनॉड ऑफ साइरो-मालाबार की कार्डिनल जॉर्ज एलनचेरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य पुलिस पर मामले को गंभीरता से नहीं लेने और ‘लव जिहाद’ के मामलों पर समय से कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया।

पीएफआई ने आरोपों को नकारा : इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) ने इस बयान के 'समय' पर सवाल उठाते हुए चर्च से अनुरोध किया कि वे इसे तत्काल वापस ले क्योंकि इससे फांसीवादी हिंदुत्व के खिलाफ समाज के विभिन्न वर्गों में बढ़ती एकजुटता के विभाजन में मदद मिलेगी।
विहिप ने किया स्वागत : विश्व हिन्दू
परिषद (विहिप) ने चर्च के बयान का स्वागत करते हुए कहा कि केरल समाज में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ साझा लड़ाई का आह्वान किया।

केरल राज्य महिला आयोग के एक अधिकारी ने इस मामले की संवेदनशील प्रकृति को देखते हुए टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। पुलिस और सरकार की तरफ से भी इस मामले पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

केरल में बढ़ता लव जिहाद : सायनॉड ने साइरो-मालाबार मीडिया कमीशन के जरिए यहां जारी एक बयान में आरोप लगाया कि ऐसी परिस्थितियां हैं जिनमें केरल में लव जिहाद के नाम पर ईसाई लड़कियां मारी गई हैं।

सायनॉड ने कहा कि यह चिंता की बात है कि केरल में लव जिहाद का आधार बढ़ रहा है जो सामाजिक शांति और सांप्रदायिक सौहार्द के लिये खतरा है। (भाषा)

विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®
 

और भी पढ़ें :