Baba Ka Dhaba के मालिक कांता प्रसाद ने किया सुसाइड अटेम्‍प्‍ट, नींद की गोलियां खाई, अस्पताल में भर्ती

Baba Ka Dhaba
Last Updated: शुक्रवार, 18 जून 2021 (14:47 IST)
सोशल मीडि‍या से खबरों में आए और बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद ने सुसाइड की कोशिश की है। बाबा ने गुरुवार देर रात नींद की गोलियां खाकर जान देने की कोशिश की। घटना के बाद उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती किया गया है।

वे दिल्ली के मालवीय नगर में ‘बाबा का ढाबा’ चलाते हैं। खबर के मुताबिक बाबा ने गुरुवार देर रात नींद की गोलियां खाकर जान देने की कोशिश की। बताया जा रहा है कि बाबा ने पहले तो खूब शराब पी उसके बाद नींद की गोलियां खा लीं। नाज़ुक हालत में उन्हें सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल बाबा खतरे से बाहर हैं।

वहीं पुलिस का कहना है कि बाबा की सुसाइड की कोशिश की वजह अभी साफ नहीं है। मामले की जांच की जा रही है। यह घटना गुरुवार रात 10 साढ़े दस बजे के आस पास हुई। कांता प्रसाद की पत्नी बादामी देवी ने बताया कि जहां उन्होंने रेस्टोरेंट खोला था उस जगह का किराया 1 लाख रुपये था। वहीं आमनदनी सिर्फ 30 हज़ार रुपये ही थी। इसीलिए बाबा कुछ समय से परेशान चल रहे थे और उन्होंने खुदकुशी की कोशिश की।

वहीं यूट्यूबर गौरव वासन ने कहा है कि वह इस मामले पर कुछ भी कहना नहीं चाहते हैं। वह बाबा से मिलकर सभी गिले-शिकवे पहले ही दूर कर चुके हैं। फूड ब्‍लॉगर ने सारे गिले शिकवे भुलाकर हाल ही में बुजुर्ग दंपत्ति के साथ एक तस्वीर साझा की थी। गौरव वासन ने यह तस्‍वीर ढाबे के मालिक कांता प्रसाद के माफी मांगने के बाद पोस्‍ट की थी।

तस्‍वीर पोस्‍ट करते हुए गौरव वासन ने ट्वीट किया था कि, “ऑल इज वेल जिसका अंत अच्छा होता है” इससे पहले एक दूसरे फ़ूड ब्लॉगर ने साझा किए गए वीडियो में कांता प्रसाद हाथ जोड़कर यह कहते हुए सुने गए थे कि “गौरव वासन चोर नहीं थे। हमने उन्हें कभी चोर नहीं कहा”

दरअसल, कोरोना की वजह से कांता प्रसाद का रेस्टोरेंट फरवरी में बंद हो गया था। जिसकी वजह से एक बार फिर कांता प्रसाद और उनकी पत्नी को उनके पुराने ढाबे पर वापस लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा। एक तरफ अक्टूबर महीने में उनके ढाबे पर खूब ग्राहक पहुंच रहे थे, तो वहीं अब फिर से उनका बिजनेस ठप पड़ा है।



और भी पढ़ें :