नाग पंचमी के उपाय : 12 राशियों के 12 मंत्र और 12 सटीक उपाय

Nag Panchami 2022
 
नाग देवता (Naag Devta) की पूजा नागपंचमी (nag panchami) के दिन करने से जीवन के नाना प्रकार की परेशानियां खत्म हो जाती हैं। जिन व्यक्तियों को राहु और केतु की दशा या महादशा चल रही हो, कालसर्प दोष हो उस व्यक्ति को नाग महाराज का पूजन करना चाहिए तथा शिवलिंग पर नाग-नागिन का चांदी से निर्मित अथवा पंचधातु का जोड़ा चढ़ाना चाहिए। इससे समस्त दोषों से मुक्ति मिलती है।

नाग देवता की पूजा नागपंचमी के दिन करने से जीवन के नाना प्रकार के संकट खत्म हो जाते हैं। जिन व्यक्तियों को राहु और केतु की दशा या महादशा चल रही हो, कालसर्प दोष हो उस व्यक्ति को नाग महाराज का पूजन करना चाहिए तथा शिवलिंग पर नाग-नागिन का चांदी से निर्मित अथवा पंचधातु का जोड़ा चढ़ाना चाहिए। इससे समस्त दोषों से मुक्ति मिलती है।

साथ ही नागपंचमी के विशेष अवसर पर निम्न मंत्र तथा उपायों को करने से जहां ग्रह दोष का निवारण होगा, वहीं जीवन में खुशहाली और सुख-समृद्धि भी आएगी।

यहां पढ़ें राशिनुसार मंत्र : nag panchami remedies

1. मेष- ॐ वासुकेय नमः
2. वृषभ- ॐ शुलिने नमः
3. मिथुन- ॐ सर्पाय नमः
4. कर्क- ॐ अनन्ताय नमः
5. सिंह- ॐ कर्कोटकाय नमः
6. कन्या- ॐ कम्बलाय नमः
7. तुला- ॐ शंखपालय नमः
8. वृश्चिक- ॐ तक्षकाय नमः
9. धनु- ॐ पृथ्वीधराय नमः
10. मकर- ॐ नागाय नमः
11. कुंभ- ॐ कुलीशाय नमः
12. मीन- अश्वतराय नमः।

नाग पंचमी के 12 उपाय :

1. मेष राशि- रुद्राष्टाध्यायी का पाठ करें।

2. वृष राशि- नागपंचमी से नियमित रूप 1 तांबे का टुकड़ा बहते जल में प्रवाहित करें (अगले 40 दिनों तक)।

3. मिथुन राशि- जातक नागपंचमी से शुरू करके अगले 40 दिनों तक कुष्ठ रोगी को मूली का दान करें।

4. कर्क राशि- नागपंचमी से अगले 8 दिनों तक बहते हुए जल में नारियल प्रवाहित करें।

5. सिंह राशि- 1 लाल कपड़े में नारियल और 4 बादाम बांधें और किसी गड्ढे में दबा दें।

6. कन्या राशि- नागपंचमी के दिन से 5 दिनों तक शिव मंदिर में खोपरा-मिश्री का प्रसाद चढ़ाएं।

7. तुला राशि- नागपंचमी के 1 दिन पहले की रात्रि में जौ के दाने अपने सिरहाने रखकर सोएं और नागपंचमी वाले दिन सुबह पक्षियों को खिलाएं।

8. वृश्चिक राशि- नागपंचमी के दिन नाग देव के पूजन के साथ श्री गणेश के पूजा करके लड्डुओं का भोग लगाएं।

9. धनु राशि- आज के दिन सपेरों से नाग या सर्प को खरीदें और उन्हें मुक्त कर दें।

10. मकर राशि- नागपंचमी से हर शनिवार को 11 दिनों तक तिल तथा जौ का दान करें।

11. कुंभ राशि- नागपंचमी के दिन कोयले को बहते जल में प्रवाहित करें।




और भी पढ़ें :