0

जानिए 7 नेचुरल एयर प्युरीफायर पौधों के बारे में, जो हवा को करते हैं शुद्ध

मंगलवार,अक्टूबर 22, 2019
0
1
दीपावली के पर्व का समय है और अगर आप अपने लिविंग रूम को रिनोवेट करने की सोच रहे हैं तो फेस्टिवल का टाइम सबसे अच्छा होता है।
1
2
दीपावली का पर्व यानी उमंग और खुशियों भरा माहौल और इसे बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है हमारा घर। इस त्योहार के लिए घर की सफाई, रंग रोगन और उसकी साज सज्जा का भी खासा महत्व है।
2
3
घर में सुख शांति और प्रसन्नता का वातावरण बना रहे इसलिए कई लोग घर की साज-सज्जा व रंगाई के लिए वास्तु और फेंगशुई के टिप्स भी आजमाते हैं।
3
4
क्या आप जानते है कि हर रंग का प्रभाव आपके मन और बुद्धि पर अलग-अलग तरह से पड़ता है। फेंगशुई के अनुसार हरे रंग को बुद्धि का प्रतिक माना गया है और इसका सेहत पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है। आइए, जानें कि हरे रंग का आपके स्वास्थ्य से क्या संबंध है?
4
4
5
माना कि आप सुरक्षित गाड़ी चला रहे हैं, गति की सीमा और ट्रैफिक के नियमों का पालन भी आप कर रहे हैं लेकिन फिर भी कुछ है जो आपको दुर्घटनाओं की ओर ले जा रहा है।
5
6
वास्तु शास्त्र में पूर्व व उत्तर दिशाएं काफी महत्वपूर्ण मानी जाती हैं, क्योंकि सूर्योदय पूर्व से होता है और लाभकारी चुंबकीय तरंगों का आगमन उत्तर से होता है।
6
7
हमारे आसपास मौजूद ऊर्जा हमारी कार्यक्षमता पर सीधा असर डालती है। अगर हमारे आसपास सकारात्मक ऊर्जा मौजूद है तो फिर कठिन से कठिन कार्य में सफलता मिलना दूर नहीं।
7
8
अगर आपके घर में लकड़ी का फर्नीचर है तो बारिश के मौसम में उनकी देखभाल करना ज्यादा जरूरी हो जाता है। क्योंकि ये नमी वाला मौसम लकड़ी के फर्नीचर में सड़न व दीमक लगने के लिए जिम्मेदार होता है। आइए, हम
8
8
9
फेंगशुई के अनुसार कछुआ आपके जीवन में सफलता और प्रगति के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।
9
10
घर की साज-सज्जा का एक अहम हिस्सा कमरों में लगाई गईं तस्वीरें भी होती हैं। कुछ तस्वीरों के चित्र व्यक्ति के स्वभाव व व्यवहार पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं, तो कुछ के चित्र व्यक्ति के स्वभाव व व्यवहार पर नकारात्मक।
10
11
वास्तु देवता की संतुष्टि गणेशजी की आराधना के बिना अकल्पनीय है। गणपतिजी का वंदन कर वास्तुदोषों को शांत किए जाने में किसी प्रकार का संदेह नहीं है।
11
12
चीनी वास्तु विज्ञान फेंगशुई के अनुसार ऊंट नौकरी, व्यावसायिक एवं आर्थिक बाधाओं को दूर करने में सहायक होता है।
12
13
बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि घर के मुख्य दरवाजे व मेन गेट को भी रोजना साफ करना चाहिए। ऐसा करने से घर में पॉजिटिविटी आने के साथ ही इंफेक्शन का खतरा भी कम होता है।
13
14
घर के पूर्व में विशाल वृक्षों का न होना या कम होना शुभ है। फिर भी यदि हो तो उन्हें काटने के बजाय घरके उत्तर की ओर उनके दुष्प्रभावों को संतुलित करने हेतु आँवला, अमलतास, हरश्रृंगार, तुलसी के पौधों को लगाया जा सकता है।
14
15
लाल किताब में वृक्षों का क्या महत्व है और जातक की कुंडली के अनुसार कौन-कौन-सा वृक्ष लाभकारी है या नहीं, इस बात का स्पष्ट उल्लेख किया गया है।
15
16
पेड़-पौधों में भी जीवन होता है अतः इनकी जीवंत ऊर्जा का सही प्रयोग हमें स्वस्थ एवं प्रसन्न रख सकता है। बस केवल आपको यह ध्यान रखना है कि पेड़-पौधे वास्तुशास्त्र की दिशा के अनुरूप हों।
16
17
घर में पानी सही स्थान पर और सही दिशा में रखने से परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य अनुकूल रहता है और सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है।
17
18
सारे घर में तरतीब से फेंगशुई मोमबत्तियों को रखना और जलाना जीवन में और अपने काम में समरसता बढ़ाने में सहायक होती हैं। इससे संतुलन बढ़ता है और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सुधार होता है।
18
19
मकान, दुकान या प्लॉट खरीदने से पहले उसके चारों ओर की बनावट, वातावरण और मूलभूत ढांचे की समीक्षा कर लेनी चाहिए। भूमि का चयन करना इतना आसान नहीं है जितना कि लोग समझते हैं।
19