0

वास्तु में क्या महत्व है हंस की तस्वीर का, जानिए यहां

बुधवार,मई 5, 2021
0
1
वास्तु शास्त्र में जल का सर्वाधिक शुभ स्थान ईशान कोण को ही माना गया है। इसीलिए घर में पानी सही स्थान पर और सही दिशा में रखने से
1
2
यदि आप घर की साफ-सफाई का ख्याल नहीं रखते हैं तो वायरस का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए इस वायरस से निपटने के लिए अपने घर को भी तैयार रखें। तो आइए जानते हैं कुछ जरूरी बातें...
2
3
अक्सर घर को डेकोर करने के लिए कई तरह के पौधे लगाएं जाते हैं लेकिन कई बार इसलिए भी नहीं लगाते हैं क्योंकि मच्छर होने लगते हैं। हालांकि घर में पौधे लगाने से ताजगी बनी रहती है।
3
4
समय के साथ लाइफस्टाइल में भी काफी बदलाव आ रहे हैं। कई लोग नेचर में सुकून ढूंढते हैं इसके लिए लोग घरों में पेड़ पौधें लगाने लगे हैं। इन दिनों बोनसाई के पेड़ काफी टेंडिंग में चल रहे हैं।
4
4
5
हम जहां या जिस स्थान पर रहते हैं, उसे वास्तु कहते हैं। अगर हमारे घर या फ्लैट में वास्तु दोष हो तो हमें दुःख और तकलीफों का सामना करना पड़ता है। घर में नकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।
5
6
भवन बनाते समय दरवाजे, खिड़की और अन्य जगहों पर लकड़ी का प्रयोग होता है। भवन बन जाने के बाद आप उसमें लकड़ी वाले फर्नीचर भी खरीदकर रखते हैं। आओ जानते हैं कि वास्तु के अनुसार ही लकड़ी का चुनाव करना क्यों जरूरी है।
6
7
अगर आपके बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लग रहा है या वह पढ़ाई से जी चुरा रहा है, उसका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता हैं तो आप नीचे दिए गए टिप्स के अनुसार बच्चे के
7
8
घर की किस दिशा में घड़ी लगाना शुभ होता है यह हममें से कम लोग जानते हैं। आइए जानें घड़ी की वास्तु अनुसार कुछ खास बातें...
8
8
9
हर गृह स्वामी को अपने घर के संपूर्ण वास्तु-विचार के साथ अपने बच्चों के कमरे के वास्तु का भी ध्यान रखना चाहिए। बच्चों की उन्नति एवं बुद्धि प्राप्ति के लिए उनका वास्तु अनुकूल गृह
9
10
वास्तु शास्त्र में कोई भी भवन खरीदते या उसकी सजावट करते समय कई बातों का ध्यान देना आवश्यक बताया गया है, क्योंकि घर का मुख्य कक्ष, बैठक कहें या ड्राइंग रूम वह जगह है,
10
11
समय के साथ-साथ रंगोली बनाने के तरीकों में भी बदलाव आया है, लेकिन इसे लेकर उत्साह और बढ़ा ही है। यही कारण है कि पारंपरिक रंगोली का नयापन भी मन को मोहता है। आइए जानते हैं, कितने प्रकार की बनती है रंगोली -
11
12
घर में सुख शांति और प्रसन्नता का वातावरण बना रहे इसलिए कई लोग घर की साज-सज्जा व रंगाई के लिए वास्तु और फेंगशुई के टिप्स भी आजमाते हैं।
12
13
दीपावली के पहले घरों की रंगाई-पुताई करवा रहे हैं, तो यह टिप्स आपको जरूर जानना चाहिए। घर की साज-सज्जा एवं रंग-रोगन के लिए दिशा के अनुसार चुनें इन 5 समृद्धदिायक रंगों को, और पाएं वर्ष भर खुशहाली व सुख-समृद्धि। जानें कैसे करें रंगों का चुनाव...
13
14
क्या आप जानते है कि हर रंग का प्रभाव आपके मन और बुद्धि पर अलग-अलग तरह से पड़ता है। फेंगशुई के अनुसार हरे रंग को बुद्धि का प्रतिक माना गया है और इसका सेहत पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है। आइए, जानें कि हरे रंग का आपके स्वास्थ्य से क्या संबंध है?
14
15
क्या आप अपने नए घर को पेंट करवाने का सोच रहे हैं? या अपने पुराने आशियाने को ही नई रंगत देकर नया लुक देना चाहते हैं? यदि हां, तो आपकी घर की दीवारों को पेंट करवाने से पहले ये जरूर जान लीजिए कि किन रंगों से महकेगा आपका आशियाना...
15
16
पारिवारिक रिश्ते सही चलते रहें, उनमें किसी भी प्रकार की खटास न रहे, उसके इस दिशा का संतुलन में रहना अत्यंत आवश्यक होता है। इस दिशा में संतुलन बनाए रखने के लिए जिससे कि
16
17
यदि आप भी अपने घर में विघ्नहर्ता भगवान गणेश की स्थापना करने जा रहे हैं, तो इस लेख में कुछ टिप्स हम आपको बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप बप्पा के दरबार को बहुत ही खूबसूरती के साथ सजा सकते हैं। आइए जानते हैं.........
17
18
एक खूबसूरत बालकनी की चाहत किसकी नहीं होती है, जहां पर कुछ समय सूकून से बैठा जा सके। गर्मियों के मौसम में ठंडी हवा के मजे और सर्दियों की धूप सेंकने के लिए घर में एक अच्छी-सी बालकनी से ज्यादा बेहतरीन जगह तो कोई और हो ही नहीं सकती। लेकिन इसका मजा तब और ...
18
19
हम अपने कुछ खास मित्रों, परिवारजनों के साथ कुछ क्षण आनंद से गुजारना चाहते हैं, उस जगह को हम घर का मुख्य कक्ष, बैठक या ड्राइंग रूम कहते हैं।
19