मुरैना शराबकांड के बाद उमा भारती ने मध्यप्रदेश में की पूर्ण शराबबंदी की मांग, कहा माफियाओं के दबाव में नहीं होती शराबबंदी

जेपी नड्डा से भाजपा शासित राज्यों में पूर्ण शराबबंदी की अपील भी की

Author विकास सिंह| Last Updated: शुक्रवार, 22 जनवरी 2021 (10:08 IST)
भोपाल। के मुरैना में जहरीली शराब पीने से करीब 30 लोगों की मौत के बाद
अब एक बार फिर प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग उठी है। इस बार शराबबंदी की मांग भाजपा की फायर ब्रांड नेता और पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने उठाई है। उमा भारती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मध्यप्रदेश के साथ पूरे देश में भाजपा शासित राज्यों में पूर्ण शराबबंदी की मांग भी कर डाली है।

उमा भारती ने एक के बाद एक आठ ट्वीट में इस पूरे मामले पर अपनी बात रखी। उमा भारती ने पहले ट्वीट में लिखा कि मध्यप्रदेश में शराब की दुकानों की संख्या बढ़ाने के बारे में कोई निर्णय नहीं लेने का मुख्यमंत्री का बयान को अभिनंदनीय है।


इसके साथ ही उमा भारती ने लिखा कि वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के सार्वजनिक अपील करती है कि जहां भी भाजपा की सरकारें हैं उन राज्यों में पूर्ण शराबबंदी की जाए। इसके साथ ही उमा भारती ने लिखा कि थोड़े से राजस्व का लालच और शराब माफिया का दबाव शराबबंदी नहीं होने देता है।

उमा भारती ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि राजनीतिक दलों को चुनाव जीतने का दबाव रहता है लेकिन बिहार की भाजपा की जीत साबित करती है कि शराब बंदी के कारण महिलाओं ने एकतरफा वोट नीतीश कुमार को दिए हैं। शराबबंदी कहीं से भी घाटे का सौदा नहीं है। शराब बंदी से होने वाले राजस्व क्षति को कहीं से भी पूरा किया जा सकता है।



और भी पढ़ें :