NCRB-2020 रिपोर्ट: बच्चों के लिए मध्यप्रदेश देश में सबसे ज्यादा असुरक्षित,7230 नाबलिग लड़कियां हुई लापता

बच्चों के साथ अपराध के मामले में मध्यप्रदेश देश में सबसे उपर

Author विकास सिंह| Last Updated: गुरुवार, 16 सितम्बर 2021 (13:03 IST)
भोपाल। बच्चों के लिए देश में सबसे असुरक्षित राज्य बन गया है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की ओर से साल 2020 को लेकर जारी रिपोर्ट क्राइम इन इंडिया-2020 के मुताबिक प्रदेश में बच्चों के साथ होने वाले के मामलों में बड़े पैमाने पर इजाफा हुआ है जिसके चलते मध्यप्रदेश देश में बच्चों के लिए सबसे असुरक्षित राज्य बन गया है।

रिपोर्ट के अनुसार साल 2020 में प्रदेश में बच्चों के खिलाफ अपराधों के 17008 केस दर्ज हुए है। जबकि इस दौरान कुल 14.5 हजार नाबालिग बच्चे लापता हुए है। इनमें 8751 नाबालिग शामिल है। गायब होने वाले नाबलिग में 7230 लड़कियां शामिल है वहीं लड़कों की संख्या 1521 है।


एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार बच्चों के साथ अपराध के मामले में 15271 मामलों के साथ उत्तर प्रदेश दूसरे नंबर पर, महाराष्ट्र 14371 के साथ दूसरे और बंगाल 10248 मामलों के साथ तीसरे नंबर है।

रिपोर्ट के अनुसार आदिवासियों के उत्पीड़न मामले में मध्यप्रदेश पहले पायदान पर है। रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में 2019 की तुलना में साल 2020 में 20 फीसदी उत्पीड़न के मामले बढ़े हैं। रिपोर्ट के अनुसार साल 2018 में एट्रोसिटी एक्ट (अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम) के तहत 2401 मामले दर्ज हुए है।

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की ओर से 'क्राइम इन इंडिया 2020' नाम से जारी की गई रिपोर्ट के ताजा आंकड़ों के मुताबिकॉ साल 2020 में कुल 66,01,285 अपराध दर्ज किए गए। इनमें से 42,54,356 ममले आईपीसी के तहत और 23,46,929 केस स्पेशल एंड लोकल लॉ के तहत दर्ज किए गए।




और भी पढ़ें :