भय्यू महाराज जल्द करवाना चाहते थे कुहू की शादी, परिवार के अलावा और भी थे तनाव

पुनः संशोधित शनिवार, 16 जून 2018 (09:09 IST)
इंदौर। आध्यात्मिक संत की आत्महत्या मामले में पुलिस ने शुक्रवार को महाराज की पत्नी आयुषी, बेटी कुहू, दो बहनों समेत कई लोगों से पूछताछ की। पुलिस के हाथ कई महत्वपूर्ण जानकारियां लगी है, पड़ताल अभी जारी है।

कुहू और आयुषी में समझौता : बताया जा रहा है कुहू और आयुषी के बीच भय्यू महाराज की संपत्ति को लेकर समझौता हो गया है। एक भाजपा नेता दोनों को यह समझाने में सफल रहे कि उनकी लड़ाई में तीसरे का फायदा हो सकता है। इसी कारण दोनों के बयानों में तल्खी कम दिखाई दी। कयास लगाए जा रहे हैं कि समझौते के तहत कुहू को 70 प्रतिशत और आयुषी को 30 प्रतिशत संपत्ति मिलेगी।

शादी जल्द करवाना चाहते थे : कुहू ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा कि वह अपने पिता की दूसरी शादी के पक्ष में नहीं थी। उसने आयुषी को कभी मां नहीं माना और न ही उससे कभी बातचीत की। उसने कहा कि महाराज की शादी के कुछ दिन बाद आयुषी से विवाद हुआ था और घर में तस्वीरें फेंक दी थी। इस कारण पिता में थे। उसने अपने बयान में कहा कि पिता उसकी जल्द ही शादी कराना चाहते थे लेकिन उसने इनकार करने हुए कहा कि वह अभी छोटी है और पढ़ना चाहती है।

जो हुआ गलत हुआ : पुलिस को दिए अपने बयान में आयुषी ने कहा कि जो हुआ, वह गलत हुआ। उन्होंने पुलिस को यह भी बताया कि कुहू उनसे बात नहीं करती थी।

बयान देने पर प्रतिबंध : इस बीच श्री सदगुरु दत्त धार्मिक पारमार्थिक ट्रस्ट ने सेवादार, कर्मचारी, कुहू और आयुषी को बयान देने से मना कर दिया है। बयान में कहा गया है कि भय्यू महाराज के विचार और कार्य सदैव असामान्य रहे और सामान्य लोगों की समझ से बाहर रहे। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामले की जांच पूरी होने पर ही आश्रम या परिवार की ओर से कुछ कहा जा सकेगा।

और भी थे तनाव : भय्यू महाराज केवल पारिवारिक कारणों से ही परेशान नहीं थे। कुछ कॉल्स उन्हें खासे परेशान करते थे। पहले उनके सेवादार ही फोन उठाया करते थे लेकिन कुछ दिनों से वे खुद ही फोन रिसीव कर रहे थे। बताया जा रहा है कि ट्रस्ट की आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। दूसरी शादी के बाद ट्रस्ट से जुड़े कुछ लोगों ने उनसे दूरी बना ली थी। पिछले कुछ महीनों में उन्होंने अपनी कई संपत्तियां बेच दी थी।



और भी पढ़ें :