0

इतिहास के स्वर्णिम पृष्ठों में महानायक के रुप में अंकित हो रहे नरेन्द्र मोदी

गुरुवार,सितम्बर 16, 2021
0
1
कोई इन कवि जी को जानता है ? पूछना था कि किस शो में इनकी कविता पढ़ी थी ? उम्र के कारण याद नहीं रहता है। बादाम भी बकवास है। कुछ नहीं होता खाने से। जब से देखा है तब से सुना लगा रहा है न पढ़ा लग रहा है। कवि ही उस शो का लिंक दे सकते हैं।
1
2
चेतना भाटी का हाल में प्रकाशित उपन्यास चंद्रदीप सहज स्त्री भावनाओं की अभिव्यक्ति है। उपन्यास बहुत बड़े कैनवास पर नहीं रचा गया है किंतु उसमें भी जिस तरह से विभिन्न भावनाओं को दर्शाया गया है वह सहज ही जेन ऑस्टीन की शैली को याद दिला देता है।
2
3
हम बात कर रहे हैं Sun Tzu, The Art of War (सन त्ज़ु, द आर्ट ऑफ़ वार) की, यह किताब सन त्ज़ु के द्वारा लिखी गई थी। यह किताब उस जमाने की सेना के युद्ध पद्धति और सैन्य तौर-तरीकों पर आधारित है, लेकिन यह किताब आज भी उतनी ही प्रासंगिक है जितनी 2500 साल ...
3
4
मनुष्य जीवन और रिश्ते अत्यंत जटिल होते हैं। मनोविज्ञान के अनुसार परिस्थिति के, सोच के, वातावरण के, मनुष्य के साथ हुए अन्याय के, उसके साथ हुए व्यवहार के, उसके स्वभाव, वंशाणु और अनुवांशिक ऐसे कई मनोवैज्ञानिक कारण हैं जो मनुष्य के मन और मस्तिष्क पर ...
4
4
5
यह कहानी है उस 8 वर्षीय बालक की जिसकी टांगें स्कूल में हुए एक हादसे में बुरी तरह से जल गईं थी। डॉक्टरों ने कहा कि अब यह जिंदगी में कभी चल नहीं पाएगा, क्योंकि उसके पैरों का सारा मांस जल चुका था। माता-पिता निराश हो गए। पूरे परिवार के लिए यह एक झटका
5
6
सबकी बातों में इंदौर था, पुराने मोहल्ले की पुरानी गलियां थीं, तीस सालों में इनमें से किसी से मुलाकात नहीं हुई थी लेकिन बातों का सिलसिला जब चल पड़ा तो ग्रुप कॉल भी होने लगीं और गूगल मीट भी। बातों-बातों में ही एक दिन भुवन सरवटे ने कहा कुछ अलग करना है।
6
7
'लोकतंत्र का अर्थ है, एक ऐसी जीवन पद्धति जिसमें स्वतंत्रता, समता और बंधुता समाज-जीवन के मूल सिद्धांत होते हैं।' -बाबा साहब अम्बेडकर
7
8
मैं अक्सर सोचता हूं कि सदियों तक सजे रहे उन गुलामों के बाजार में बिकी हजारों-लाखों बेबस बच्चियां और औरतें कहां गई होंगी? वे जिन्हें भी बेची गई होंगी, उनकी भी औलादें हुई होंगी? आज उनकी औलादें और उनकी भी औलादों की औलादें सदियों बाद कहां और किस शक्ल ...
8
8
9
गर्व होता है न हमारी राष्ट्र की भाषा पर। आज हिन्दी दिवस है। भारत में हिन्दी बोलने का दिन। अपने देश में अपनी ही भाषा के लिए एक दिन। मानसिक तौर पर हम क्या आज भी ग़ुलाम नही ?
9
10
इस दिन स्‍कूल, कॉलेज, शैक्षणिक संस्‍थाएं आदि जगहों पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, अन्य त्योहारों की तरह ही लोग इस दिन भी अपने जानने वालों को शुभकामनाओं वाले संदेश भेजते है। आप भी अपने दोस्तों को हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं भेज ...
10
11
भारतीय अधरों का... गौरव और मान है हिंदी, भारत की प्रमुख पहचान और सम्मान है हिंदी ! फ़ारसी से उपजी,संस्कृत की लाड़ली बेटी महान है हिंदी, भारत की मुख्य भाषा और अभिमान है हिंदी !
11
12
हिंदी दिवस पर इंदौर शहर के वामा साहित्य मंच ने आयोजित की नारा प्रतियोगिता, जिसमें देश-विदेश की हिंदी प्रेमी सदस्यों ने स्वरचित नारे लिखे। उनमें से कुछ प्रमुख नारे यहां प्रस्तुत हैं...
12
13
हिंदी दिवस की शुभकामनाएं.... हिन्दी/ हिंदी दिवस पर हमने जुटाई है विशेष सामग्री... यहां पढ़ें हिन्दी पर लेख, कविता, नारे और शुभकामना संदेश और अन्य महत्वपूर्ण आलेख....
13
14
यूं तो हिंदी पूरे भारत में बहुतायत बोली जाती है, लेकिन अगर दुनिया की बात करें तो हिंदी दुनिया में सबसे ज्‍यादा बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। दरअसल, चीन की भाषा मंदारिन और अंग्रेजी के बाद हिंदी बोलने वाले लोगों की आबादी तीसरे स्थान पर है। यानि ...
14
15
इसके अलावा विश्व में सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषाओं में हिंदी का स्थान चौथा है। हिंदी दिवस के अवसर पर आज हम आपको हिंदी से जुड़े कई रोचक तथ्य बता रहे हैं जो बेहद दिलचस्‍प हैं और आपका ज्ञान भी बढ़ाएंगे।
15
16
1947 में जब हमारे देश को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली, तब उनके सामने भाषा की एक बड़ी चिंता खड़ी हुई। भारत एक विशाल देश है जिसमें विविध संस्कृति है। ऐसी सैकड़ों भाषाएं हैं जो देश में बोली जाती हैं और हजारों से अधिक बोलियां हैं।
16
17
हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी प्रेमी इस दिन को गर्व के साथ मनाते हैं और बधाई देते हैं। आज हिंदी का वर्चस्‍व देश से अधिक विदेशों में बढ़ रहा है। अमेरिका में हिंदी भाषा दो अन्य भाषा के साथ बोली जाती है। त‍मिल और गुजराती। विदेशों ...
17
18
हिन्दी का बिगाड़ भारत माता के रूप की लालिमा का बिगाड़ है, उसकी सिन्दूरी आभा का बिगाड़ है, उसके माथे की बिंदी का बिगाड़ है। बिगाड़ तो अंग्रेजों ने भरपूर किया पर उनके बिगाड़ को सम्मान से स्वीकार किया चापलूसों ने।
18
19
देश में पहली बार 14 सितंबर 1953 को हिन्दी दिवस मनाया गया था... अन्य त्योहारों की तरह ही लोग इस दिन भी अपने जानने वालों को शुभकामनाओं वाले संदेश भेजते हैं। आप भी दोस्तों को हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं भेज सकते हैं -
19