1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Westindian team inability to play full quota of overs hurting the coach
Written By
Last Updated: गुरुवार, 21 जुलाई 2022 (17:43 IST)

पिछले 39 वनडे में से सिर्फ 6 बार 50 ओवर खेल पाई है वेस्टइंडीज, कोच ने किया आगाह

पोर्ट ऑफ स्पेन: वेस्टइंडीज की टीम पिछले दो वर्षों में वनडे मैचों में पूरे 50 ओवर खेलने के लिए संघर्ष करती रही है और टीम के मुख्य कोच फिल सिमन्स ने कहा कि भारत के खिलाफ शुक्रवार से शुरू होने वाली तीन मैचों की श्रृंखला में उनकी टीम खेल के इस विभाग में सुधार करना चाहेगी।

यदि आंकड़ों पर ध्यान दें तो वेस्टइंडीज विश्व कप 2019 के बाद 39 पारियों में से केवल 6 पारियों में ही पूरे 50 ओवर खेल पाया है। उसने पिछली 13 वनडे श्रृंखलाओं में से 9 श्रृंखलाएं गंवाई हैं।

वेस्टइंडीज का हाल का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। उसे बांग्लादेश के खिलाफ वनडे श्रृंखला में 0-3 से हार का सामना करना पड़ा था। ऑलराउंडर जेसन होल्डर ने वापसी की है और इससे निकोलस पूरण की अगुवाई वाली टीम में संतुलन पैदा हुआ है।

सिमन्स की कोचिंग वाली टीम को इस साल के शुरू में घरेलू मैदानों पर आयरलैंड से भी हार का सामना करना पड़ा था।इसके बाद कीरन पोलार्ड की अगुवाई में भारतीय जमीन पर वेस्टइंडीज को 0-3 से वनडे सीरीज में शर्मसार होना पड़ा था।

सिमन्स ने भारत के खिलाफ पहले वनडे की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से कहा, ‘‘अहम बात यह है कि हम पूरे 50 ओवर तक कैसे बल्लेबाजी करते हैं। हमें पारी संवारकर और साझेदारी निभाकर पूरे 50 ओवर तक बल्लेबाजी करनी होगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘किसी को क्रीज पर टिककर पारी संवारनी होगी और शतक जड़ने पर ध्यान देना होगा। बल्लेबाजी में हमें ऐसा करना ही होगा।’’

सिमन्स 2019 से वेस्टइंडीज के मुख्य कोच हैं। उन्हें उम्मीद है कि उनके खिलाड़ियों को यहां की अनुकूल पिचों पर भारत की तुलना में अधिक मदद मिलेगी।उन्होंने कहा, ‘‘हमें जितना बेहतर विकेट मिलेगा उतना ही हमारे बल्लेबाजों और गेंदबाजों के लिए अच्छा होगा।’’

सिमन्स हालांकि अपने क्षेत्ररक्षण और गेंदबाजी विभाग को लेकर चिंतित नहीं है।उन्होंने कहा, ‘‘ गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में लगातार सुधार हो रहा है। क्षेत्ररक्षण में हम अपनी टीम को अव्वल दर्जे का मानते हैं। हमारे गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। उन्हें रन प्रवाह पर अंकुश लगाने और विकेट लेने पर ध्यान देना होगा। ऐसा करके ही हम विरोधी टीम को कम स्कोर पर आउट करके जीत दर्ज कर सकते हैं।’’

सिमंस ने बताया कि मैदान पर दो अभ्यास सत्रों में उन्होंने वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ों में कुछ अच्छी बातें देखी हैं। हालांकि मैच के लिए तैयार की गई पिच के बर्ताव पर टिप्पणी करना आसान नहीं होगा क्योंकि इस मैदान पर अगस्त 2019 के बाद कोई अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला गया।

सिमंस ने इस मैदान की प्रॉविडेंस के साथ तुलना करते हुए कहा, "यहां के मैदान पर ज़्यादा काम किया गया है। तीनों मैच अच्छी विकेटों पर खेले जाएंगे और हमें देखना होगा शुक्रवार की पिच कैसी होगी। मुझे बेहतर बल्लेबाज़ी की पूरी उम्मीद है। मुझे बहाने बनाना पसंद नहीं लेकिन तीसरे वनडे में कुछ हद तक हमने वह किया जो हमें पहले भी करना चाहिए था। यहां विकेट बेहतर है और बावजूद इसके कि भारत का गेंदबाज़ी क्रम भी अधिक शक्तिशाली होगा, मुझे लगता है हम बल्लेबाज़ी में सुधार देखेंगे।"

बांग्लादेश के विरुद्ध आख़िरी मुक़ाबले में ऑलराउंडर कीमो पॉल ने हैमस्ट्रिंग में खिंचाव के चलते गेंदबाज़ी नहीं की थी। पिछले दो सालों में वह कई बार चोटग्रस्त हुए हैं और सिमंस ने बताया कि पहले मैच में एकादश में उनकी जगह को लेकर निर्णय मैच से एक दिन पहले ही हो पाएगा। उन्होंने कहा, "वह स्वस्थ्य नज़र आते हैं। उन्होंने फ़िज़ियो और स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच के साथ पिछले दो दिनों से अच्छा काम किया है। वह मैच खेलने के लिए तैयार है या नहीं यह फ़ैसला हम कल ही ले पाएंगे।"

आखिरी बार जब वेस्टइंडीज ने भारत को अपने घरेलू मैदान पर वनडे सीरीज हराई थी तो वह साल 2006 था। इंडीज का हालिया फॉर्म ऐसा है कि प्रमुख खिलाड़ियों के बिना भी भारत इंडीज पर कागज पर भारी दिख रहा है।गौरतलब है कि विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, ऋषभ पंत और रोहित शर्मा ने इस वनडे सीरीज से आराम लिया है।
ये भी पढ़ें
इन 5 देशों ने 1 साल में बदले सबसे ज्यादा कप्तान, एशिया की यह 2 टीमें टॉप पर