VVS लक्ष्मण लेंगे राहुल द्रविड़ की जगह, बनेंगे NCA प्रमुख

Last Updated: रविवार, 14 नवंबर 2021 (17:57 IST)
हमें फॉलो करें
साल 2001 में राहुल द्रविड़ और ने कोलकाता में खेले गए एतिहासिक मैच में 376 रनों की विशाल साझेदारी की थी जिससे भारत ऑस्ट्रेलिया को फॉलोओन के बावजूद हरा पाया था। आज करीब इस मैच के 20 साल बाद भारतीय क्रिकेट में राहुल और लक्ष्मण की साझेदारी एक बार फिर दिखेगी।

रविवार को अध्यक्ष सौरव गागंलुी ने इस बात की पुष्टि की है कि वीवीएस लक्ष्मण राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के अध्यक्ष होंगे।भारत के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के अगले प्रमुख होंगे। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

लक्ष्मण भारतीय टीम के अपने पूर्व साथी रहे दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ की जगह लेंगे जिन्हें हाल में रवि शास्त्री का कार्यकाल खत्म होने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘वीवीएस लक्ष्मण एनसीए के नए प्रमुख होंगे।’’लक्ष्मण पहले ही इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटर की भूमिका छोड़ चुके हैं और हितों के टकराव से बचने के लिए वह किसी कमेंट्री पैनल का हिस्सा भी नहीं होंगे और ना ही समाचार पत्रों में लेख लिखेंगे।

माना जा रहा है कि बीसीसीआई की चार दिसंबर को कोलकाता में होने वाली वार्षिक आम बैठक (एजीएम) से पहले लक्ष्मण की नियुक्ति प्रभावी हो जाएगी।

लक्ष्मण ने शुरुआत में बीसीसीआई की पेशकश ठुकरा दी थी क्योंकि वह हैदराबाद से स्थानांतरित होने के लिए तैयार नहीं थे। एनसीए से जुड़ने के बाद लक्ष्मण को कम से कम 200 दिन बेंगलुरू में रहना होगा।



लक्ष्मण की यह होगी भूमिका

भारतीय क्रिकेट के दो दिग्गज लक्ष्मण और द्रविड़ अब एक साथ काम करेंगे क्योंकि बीसीसीआई चाहता है कि भारत के मुख्य कोच और एनसीए प्रमुख के बीच अच्छा सामंजस्य हो।इस काम के हिस्से के तौर पर लक्ष्मण को भारत अंडर-19 और भारत ‘ए’ टीमों की तैयारी भी देखनी होगी जो सीनियर स्तर पर टीम में जगह बनाने का रास्ता है।

एनसीए के प्रमुख को बेंगलुरु में रहना होगा। अकादमी का हेडक्वार्टर एम चिन्नास्वामी स्टेडियम के परिसर में स्थित है। बीसीसीआई शहर से दूर अकादमी का निर्माण करा रहा है, जहां पर सभी संसाधन मौज़ूद होंगे। लक्ष्मण इस पद को संभालते हैं तो इसका मतलब है कि उन्हें अपने गृहनगर हैदराबाद को छोड़ना होगा।



और भी पढ़ें :