वेस्टइंडीज को अपने ही घर में क्लीन स्वीप देने के लिए उतरेगी विराट एंड कंपनी

पुनः संशोधित सोमवार, 5 अगस्त 2019 (17:55 IST)
प्रोविडेंस। भारतीय क्रिकेट टीम अमेरिका में ट्वंसीरीज कब्जाने के बाद फाइनल मुकाबले के लिए मेजबान के घर पहुंचेगी, जहां वह नई परिस्थितियों में भी विजयी लय बरकरार रखते हुए 3-0 से सीरीज में करने उतरेगी।
भारत 3 मैचों की सीरीज को फ्लोरिडा के लौडरहिल में 2-0 से पहले ही कब्जा चुका है। उसने पहला मैच वेस्टइंडीज से 4 विकेट से और दूसरा मैच डकवर्थ लुईस नियम के तहत 22 रनों से जीता है। विराट कोहली की अगुवाई में भारत अब जमैका रवाना होगा और वहां आखिरी मैच लौडरहिल में खेलेगा।

आईसीसी विश्व कप की निराशा को पीछे छोड़ पटरी पर लौटने और सीरीज कब्जाना काफी महत्वपूर्ण है, वहीं टीम के लिए अगले ट्वंटी-20 विश्व कप से पूर्व इस प्रारूप में अच्छा प्रदर्शन और नए खिलाड़ियों के साथ नए तरह के संयोजन प्रयोग करने के लिहाज से भी इस दौरे को काफी अहम माना जा रहा है।

विराट ने दूसरे वर्षाबाधित मैच के बाद कहा था कि सीरीज कब्जा लेने से अब उनके पास तीसरे मैच में नए खिलाड़ियों को मौका देने का विकल्प रहेगा। कप्तान के संकेत के बाद माना जा रहा है कि स्पिनर राहुल चाहर को आखिरी मैच में जगह दी जाए जबकि उनके भाई दीपक चाहर भी आखिरी मैच के लिए अंतिम एकादश में जगह पा सकते हैं।

वहीं महेंद्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारी माने जा रहे विकेटकीपर ऋषभ पंत 2 मैचों में फ्लॉप रहे हैं और उनकी जगह लोकेश राहुल को लाया जा सकता है। पंत ने पहले मैच में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी की थी और 0 पर आउट हो गए जबकि दूसरे मैच में 4 रनों पर आउट हो गए। ऐसे में टीम के इस सबसे दुविधाभरे चौथे क्रम पर राहुल की वापसी संभव है, जो इस क्रम पर प्रभावित कर चुके हैं।

भारत ने दूसरा मैच वर्षाबाधित स्थिति के बाद डकवर्थ लुईस नियम से जीता था। मैच के निर्धारित ओवरों में टीम इंडिया की ओर से एक बार फिर सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा 67 रनों की अर्द्धशतकीय पारी खेलकर शीर्ष स्कोरर रहे।

विराट के साथ मतभेदों के कारण खबरों में बने हुए रोहित विश्व कप में भी शीर्ष स्कोरर रहे थे जिन्होंने एक विश्व कप में सर्वाधिक 5 शतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया था। रोहित ने अपनी इसी फॉर्म को बरकरार रखा तथा अगले मैच में भी इसी प्रदर्शन की उनसे उम्मीद रहेगी।

वेस्टइंडीज दौरे पर पहले से खेल रही भारत 'ए' टीम का हिस्सा रहे ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के भाई क्रुणाल ने 'ए' टीम के बाद राष्ट्रीय टीम में भी प्रभावित किया और हरफनमौला खेल दिखाकर 'मैन ऑफ द मैच' रहे। क्रुणाल ने 6ठे नंबर पर खेलते हुए नाबाद 20 रनों की पारी खेली और 23 रन देकर सर्वाधिक 2 विकेट भी निकाले।

क्रुणाल के अलावा मैच में स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर के खेल ने भी कप्तान को प्रभावित किया। वॉशिंगटन पिछले 2 मैचों से नई गेंद से ओपनिंग कर रहे हैं और काफी प्रभावशाली रहे हैं। उन्होंने दूसरे मैच में 12 रनों पर 1 विकेट भी निकाला। सीमित प्रारूप में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव जैसे नियमित स्पिनरों की अनुपस्थिति में वॉशिंगटन टीम के लिए उपयोगी साबित हो रहे हैं।

हालांकि वेस्टइंडीज की टीम बड़े उलटफेर करने में माहिर है और सीरीज गंवाने के बाद वह अपने घरेलू मैदान पर वापसी का प्रयास कर सकती है। ऐसे में भारत को अपनी बल्लेबाजी में सुधार करना होगा।

भारत को पहले मैच में 100 से भी स्कोर के लक्ष्य का पीछा करने में पसीने छूट गए थे और उसके बल्लेबाजों ने खास प्रदर्शन नहीं किया वहीं दूसरे मैच में रोहित को छोड़ शिखर धवन 23 और विराट केवल 28 रन ही बना सके थे। मध्यक्रम में मनीष पांडे और पंत ने निराश किया था। ऐसे में मध्यक्रम के बल्लेबाजों को बेहतर ढंग से जिम्मेदारी निभानी होगी। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :