गौतम गंभीर बोले, रोहित और धोनी की उपस्थिति के कारण कप्तान के रूप में विराट प्रभावी

पुनः संशोधित शुक्रवार, 20 सितम्बर 2019 (12:58 IST)
अहमदाबाद। पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा कि विराट कोहली अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रभावी कप्तान इसलिए हैं, क्योंकि उनके पास टीम में महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा के रूप में दो मौजूद हैं। भारत के महान कप्तानों में से एक धोनी को माना जाता है जिन्होंने टीम को 2 विश्व कप दिलाए हैं जबकि रोहित फ्रेंचाइजी कप्तान के रूप में काफी सफल रहे हैं और मुंबई इंडियंस को 4 आईपीएल खिताब दिलवा चुके हैं।
गंभीर ने कहा कि अभी कोहली को लंबा सफर तय करना है। कोहली पिछले विश्व कप में (इंग्लैंड में) काफी अच्छा था लेकिन उसे अब भी काफी दूर तक जाना है। वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इसलिए इतनी अच्छी कप्तानी करता है, क्योंकि उसके पास रोहित शर्मा है, उसके पास लंबे समय से महेंद्र सिंह धोनी हैं।

कोहली के आईपीएल में रिकॉर्ड की बात करते हुए गंभीर ने कहा कि कप्तान के प्रभावी होने की परीक्षा तब होती है, जब आपको कई प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की सेवाएं नहीं मिलती। गंभीर आईपीएल टीम कोलकाता नाइटराइडर्स को अपनी कप्तानी में 2 खिताब दिला चुके हैं। उन्होंने कहा कि कप्तानी के गुण की परख तब होती है, जब आप एक फ्रेंचाइजी की अगुआई करते हैं, जब आपके पास सहयोग के लिए अन्य खिलाड़ी नहीं होते।
क्रिकेटर से नेता बने गंभीर ने कहा कि जब भी मैंने इसके बारे में बात की है, मैं हमेशा ही ईमानदार रहा हूं। देखिए, रोहित शर्मा ने मुंबई इंडियंस के लिए क्या हासिल किया है, देखिए धोनी ने चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए क्या हासिल किया है। अगर आप इसकी तुलना आरसीबी से करोगे तो नतीजा सभी के सामने है और सब देख सकते हैं। गंभीर ने टेस्ट प्रारूप में बल्लेबाजी के आगाज के लिए सीमित ओवर के उपकप्तान रोहित शर्मा का समर्थन किया।
उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि लोकेश राहुल को लंबा समय दिया गया। अब समय है कि रोहित से टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजी का आगाज कराया जाए। अगर आप उसे टीम में चुनते हो, तो उसे अंतिम एकादश का हिस्सा होना चाहिए। अगर वह आपकी अंतिम एकादश में फिट नहीं होता तो उसे 15 या 16 खिलाड़ियों की टीम में चुनने का कोई मतलब नहीं। वह इतना बेहतरीन खिलाड़ी है कि उसे बेंच पर नहीं बिठाया जा सकता।



और भी पढ़ें :