इंग्लैंड पहुंचने के बाद कोहली ने शेयर की साउथम्प्टन के मैदान की तस्वीर, कैप्शन देते हुए लिखा...

पुनः संशोधित शनिवार, 5 जून 2021 (12:59 IST)
आईसीसी के फाइनल और के खिलाफ सीरीज के लिए टीम इंडिया विराट कोहली की अगुवाई में इंग्लैंड पहुंच गई है। भारतीय टीम बुधवार 2 जून को इंग्लैंड के लिए रवाना हुई थी और टीम गुरूवार 3 जून को साउथम्प्टन पहुंची। बता दें कि टीम को अगले 105 दिनों में न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट
चैंपियनशिप के फाइनल के साथ-साथ इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला भी खेलनी है।
टीम इंडिया के साउथम्प्टन पहुंचने के साथ ही भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इन्स्टाग्राम स्टोरी पर एक तस्वीर
साझा की। विराट कोहली ने एजेस बाउल मैदान के साथ अपनी एक फोटो पोस्ट की। तस्वीर में विराट काफी खुश
नजर आए। जानकारी के लिए बता दें कि न्यूजीलैंड और भारत के बीच आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का
फाइनल मुकाबला साउथम्प्टन के एजेस बाउल मैदान पर ही खेला जाएगा।
वैसे विराट कोहली के अलावा टीम के अनुभवी सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा, तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और
उमेश यादव भी इस मैदान के साथ अपनी-अपनी तस्वीरें शेयर कर चुके हैं। टीम इंडिया गुरूवार, 3 जून को
साउथम्प्टन पहुंची थी और फिलहाल तीन दिनों तक सभी खिलाड़ी आइसोलेशन में रहेंगे।
तीन दिन आइसोलेशन पूरा करने के बाद टीम के सभी खिलाड़ी नेट्स पर अभ्यास कर सकेंगे। दुनिया भर के फैंस
के बीच आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल को लेकर एक अलग ही प्रकार का उत्साह देखने को मिल रहा है।
उत्साह हो भी क्यों न पहली बार टेस्ट फॉर्मेट में इस प्रकार का कोई फाइनल मुकाबला जो होने वाला है।

साउथम्प्टन मैदान के आंकड़ो पर एक नजर डाली जाए तो भारतीय टीम ने अभी तक इस मैदान पर कुल दो टेस्ट
मैच खेले हैं और इस दौरान टीम ने दोनों में ही हार का सामना किया है। हालांकि इस बात में कोई भी शक नहीं है
कि टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल टीम इंडिया के लिए वाकई में एक बड़ी चुनौती होने वाला है।
वहीं इंग्लैंड दौरे की अगर बात करें तो कोहली ने 2014 की नाकामी को 2018 के दौरे पर खत्म कर दिया था। साल 2018 में जब टीम इंडिया इंग्लैंड के दौरे पर गयी थी, तब कप्तान कोहली ने पांच मैचों की श्रृंखला में 59.30 की उम्दा औसत के साथ 593 रन बनाए थे।
याद दिला दें कि 2014 में विराट की नाकामी का एक सबसे बड़ा कारण इंग्लैंड के स्टार तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन रहे थे। एंडरसन ने 10 पारियों के दौरान विराट कोहली को कुल चार बार आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखाया था, जबकि 2018 में एंडरसन एक बार भी कोहली का शिकार नहीं कर सके थे।

इस बार क्रिकेट फैंस को उनसे ज्यादा बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी। ऑस्ट्रेलिया की जमीन पर बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी जीत चुकी टीम इंडिया वैसा ही प्रदर्शन उनके चिर प्रतिद्वंदी इंग्लैंड के खिलाफ दोहराना चाहेगी।



और भी पढ़ें :