फिटनेस की फांस: स्पिनर कैसे पूरी कर सकता है 8.5 मिनट में 2 किमी की दौड़? डेब्यू में रुकावट

Varun Chakraborty
Last Updated: सोमवार, 1 मार्च 2021 (20:55 IST)
कोलकाता:अगर एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी फिटनेस टेस्ट पास नहीं कर पाता तो क्या उसे टीम इंडिया से खेलने का हक नहीं है, फिर उसने अपने प्रदर्शन से कितना ही अच्छा खेला हो। फिट खिलाड़ी भले ही योगदान नहीं दे लेकिन टीम में रहेगा, प्रतिभाशाली खिलाड़ी खुद को साबित करके भी टीम से बाहर रहेगा। फिटनेस को टीम मैनेजमेंट पत्थर की लकीर की तरह आत्मसात करके बैठा है जिसका खामियाजा वरुण चक्रवर्ती को भुगतना पड़ रहा है।
इंग्लैंड के खिलाफ 12 मार्च से शुरू होने वाली टी-20 सीरीज में रहस्यमय लेग स्पिनर वरुण चक्रवर्ती का खेलना संदिग्ध लग रहा है। 29 वर्षीय वरुण भारतीय खिलाड़ियों के लिए तय फिटनेस संबंधी मानकों के अनुरूप प्रदर्शन करने में असफल रहे हैं।

भारतीय टीम में शामिल होने के लिए किसी भी खिलाड़ी को 8.5 मिनट में दो किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी होती है अथवा उसे में कम से कम 17.1 अंक हासिल करने होते हैं।
पांच महीने के भीतर यह दूसरी बार होगा जब वरुण फिटनेस टेस्ट पास नहीं करने के कारण भारतीय टीम में शामिल नहीं हो सकेंगे। पिछले वर्ष नवंबर में वरुण को आईपीएल में की ओर से शानदार प्रदर्शन करने के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए टीम में शामिल किया गया था लेकिन उससे पहले उन्हें बेंगलुरु की नेशनल क्रिकेट अकादमी में भेज दिया गया।
वरुण चक्रवर्ती ने आईपीएल 2020 के 13 मैचों में 20 की औसत से 17 विकेट लिए थे। इसमें उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था 20 रन देकर 5 विकेट लेना। इसके बावजूद भी वरुण को फिटनेस में रत्ती भर भी रियायत नहीं दी जा रही है।

वरुण ने कहा कि उन्हें इस संबंध में अब तक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की ओर से कोई सूचना नहीं मिली है और वह उसका इंतजार कर रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 सीरीज 12 से 20 मार्च के बीच अहमदाबाद में खेली जायेगी।
अंबाती रायडू भी रहे हैं यो यो के भुक्तभोगी

पहले भी फिटनेस की यह फांस कई खिलाड़ियों के सामने सफलता का रोड़ा बनी है। अंबाती रायुडू उनमें से एक नाम है। साल 2018 में अच्छे फॉर्म में चल रहे अंबाती रायुडू को इंग्लैंड दौरे से सिर्फ इसलिए बाहर रखा था क्योंकि उन्होंने यो यो टेस्ट पास नहीं किया था।

अंबाती रायुडू ने डेढ़ साल बाद भारतीय वनडे टीम में वापसी की थी। आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की खिताबी जीत के सूत्रधारों में शामिल रायुडू का यो यो स्कोर 14 के आसपास रहा था।
वर्तमान में टीम का हिस्सा रहे वॉशिंगटन सुंदर भी साल 2017 में यो यो टेस्ट में फेल हो गए थे।




और भी पढ़ें :