15 साल बाद विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचा उत्तर प्रदेश

पुनः संशोधित गुरुवार, 11 मार्च 2021 (21:21 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली:बाए हाथ के तेज गेंदबाज यश दयाल (3/34) की एक और धाकड़ गेंदबाजी और अक्षदीप नाथ के 71 रन की बेहतरीन पारी से ने गुजरात को अरुण जेटली स्टेडियम में गुरुवार को पांच विकेट से हरा कर 15 साल के लंबे अंतराल के बाद विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया।

उत्तर प्रदेश आखिरी बार 2005-06 में विजय हजारे के फाइनल में पहुंचा था और तब वह उपविजेता रहा था। गुजरात ने टाॅस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, लेकिन उसकी पूरी टीम 48.1 ओवर में 184 रन पर सिमट गई। उत्तर प्रदेश ने 42.4 ओवर में पांच विकेट पर 188 रन बना कर आसानी से मैच जीत लिया। अक्षदीप ने 104 गेंदों पर 71 रन की मैच विजय पारी में आठ चौके लगाए। अक्षदीप अपनी इस पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच बने।
कप्तान करन शर्मा ने 63 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 38 रन तथा विकेटकीपर उपेंद्र यादव ने 25 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के के सहारे नाबाद 31 रन बनाए। माधव कौशिक ने 15, प्रियम गर्ग ने 15 और समर्थ सिंह ने 11 रन का योगदान दिया। गुजरात की तरफ से चिंतन गाजा ने 30 रन देकर दो विकेट लिए।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के गेंदबाजों ने गुजरात के बल्लेबाजों को जमने का कोई मौका नहीं दिया। हेत पटेल 87 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 60 रन बना कर समर्थ सिंह के थ्रो पर रन आउट हुए। गुजरात की ओर से खेल रहे उत्तर प्रदेश के खिलाड़ी पीयूष चावला ने 42 गेंदों पर 32 रन और ओपनर ध्रुव रावल ने 37 गेंदों पर 23 रन बनाए।
गुजरात की टीम बिना कोई मैच हारे सेमीफाइनल में पहुंची, लेकिन अंतिम चार में उसके बल्लेबाजों ने निराश किया और अच्छा टॉस जीतने का फायदा नहीं उठा पाए। उत्तर प्रदेश के तेज गेंदबाजों ने गुजरात को शुरुआत से झकझोर दिया। गुजरात के पांच विकेट 92 रन पर गिर चुके थे। हेत पटेल और चावला ने छठे विकेट के लिए 66 रन की साझेदारी कर टीम के स्कोर को कुछ सम्मान दिया, लेकिन 184 का स्कोर ऐसा नहीं था कि उत्तर प्रदेश को कोई परेशानी हो पाती।
यश दयाल ने 34 रन पर तीन विकेट और आकिब खान ने 22 रन पर दो विकेट लिए। शिवम शर्मा और अक्षदीप नाथ को एक-एक विकेट मिला।(वार्ता)




और भी पढ़ें :