30 घंटे की उड़ान के बाद पस्त 'टीम इंडिया' की टी20 में मिली जीत को सलाम

ऑकलैंड के ईडन पार्क में न्यूजीलैंड के खिलाफ उसी के घर में 6 विकेट से मिली जीत के लिए टीम इंडिया को सलाम करने का दिल इसलिए भी करता है क्योंकि 'विराट के वीर' 30 घंटों की लंबी उड़ान के बाद यहां पहुंचे थे और उन्हें अभ्यास के लिए 2 दिन का भी पूरा वक्त नहीं मिला। ऐसे में यदि टीम इंडिया न्यूजीलैंड को 5 टी20 मैचों की सीरीज का आगाज 6 विकेट की जीत के साथ करती है तो हमें उसे सैल्यूट करना चाहिए।
भारतीय टीम देश से 20 जनवरी की रात को निकली थी। उसके खिलाड़ियों ने 30 घंटों का लंबा हवाई सफर तय किया। भारत और न्यूजीलैंड के समय में 7.30 घंटे का अंतर है। विदेश पहुंचने के बाद खिलाड़ियों को वहां की परिस्थितियों में ढ़लने में कम से कम 5 दिन का वक्त लगता है।

न्यूजीलैंड के समय के अनुसार मैच 8.20 बजे शुरु हुआ। भारत में इस वक्त आसमान में तारों की बारात आ जाती है लेकिन
न्यूजीलैंड में नजारा दूसरा था। वहां रात 8 बजे बाद भी सूरज देवता दर्शन दे रहे थे। अस्तांचल में जा रहे सूर्य की तेज रोशनी का अंदाज
खिलाड़ियों की लंबी परछाईयों से लगाया जा सकता था।
भारतीय खिलाड़ी थके और पस्त होने के बाद भी जोश से भरे थे। हालांकि पावर-प्ले के पहले 6 ओवर में मार्टिन गुप्टिल और कॉलिन मुनरों की सलामी जोड़ी ने 68 रन ठोंककर भारतीय गेंदबाजी को धुनककर रख दिया था।

शिवम दुबे के 8वें ओवर की 5वीं गेंद पर गुप्टिल के शर्तिया छक्के को जिस प्रकार सीमा रेखा पर रोहित शर्मा ने लपका, वो देखते ही बनता था। रोहित का पैर सीमा रेखा पर टकराता, उसके पहले उन्होंने गेंद को उछाला, पैर को बचाया और फिर कैच लपका। गुप्टिल 19 गेंदों में 4 चौके और 1 छक्के के साथ 30 रन पर पैवेलियन लौटे।

इस जोड़ी के टूटते ही भारतीय गेंदबाजों ने कुछ देर तक न्यूजीलैंड की रन गति पर अंकुश जरूर लगाया लेकिन मुनरो (59), कप्तान केन विलियम्सन (51) और रोस टेलर (54) ने अर्धशतक जड़कर न्यूजीलैंड का स्कोर 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 203 रन पर पहुंचा दिया।

ईडन पार्क जैसे छोटे मैदान की बाउंड्री केवल 56 मीटर की है और इस पर जब भारतीय सूरमाओं के बल्लेबाजी करने की बारी आई तो वे भी कीवी गेंदबाजों पर भूखे शेर की तरह टूट पड़े।

रोहित शर्मा (7) के जल्दी आउट होने के बाद लोकेश राहुल के 27 गेंदों पर 56 (4 चौके, 3 छक्के), के नाबाद 58 (29 गेंद, 5 चौके, 3 छक्के) और विराट कोहली के 32 गेंदों पर ठोंके 45 रन ने भारत को 19 ओवर में 6 विकेट से जीत दिला दी।

टीम इंडिया की यह एक प्रोफेशनल जीत कही जानी चाहिए क्योंकि किसी भी विदेशी दौरे में ऐसा पहली बार हुआ, जब उसे इतनी जल्दी मैदान पर पहुंचकर वहां की परिस्थितियों के अनुरुप खिलाड़ियों ने खुद को ढाला हो, वह भी ऐसे देश के खिलाफ जिससे इस मैच से पहले हुए 11 टी20 मुकाबलों में से वह केवल 3 ही जीत सका हो।




और भी पढ़ें :