कप्तान लोकेश राहुल को पंजाब किंग्स ने किया रीलीज, अनबन की बातें सच साबित हुई

Last Updated: मंगलवार, 21 दिसंबर 2021 (16:37 IST)
हमें फॉलो करें
आईपीएल 2021 में के अंतिम मैच में मालकिन प्रीति जिंटा ने भले ही के विजयी शॉट पर ताली बजाई हो लेकिन मीडिया रिपॉर्ट्स के मुताबिक यह खबर थी कि केएल राहुल पंजाब किंग्स के साथ नहीं रहेंगे। सूत्रों के मुताबिक प्रीति और राहुल में कुछ अनबन थी।

यह बात कल रिटेंशन खिलाड़ियों की घोषणा के साथ सच साबित हुई। पंजाब किंग्स ने अपने पिछले साल के कप्तान लोकेश राहुल को रिलीज किया। वहीं सिर्फ दो खिलाड़ियों को ही अपने पास रखा सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल और बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह। हाालंकि केएल राहुल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू पर पंजाब किंग्स को धन्यवाद दिया।


मयंक अग्रवाल ने आईपीएल 2021 में 12 मैचों में 42 की औसत से 441 रन बनाए थे। इसमें 4 अर्धशतक भी शामिल थे। सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में उनका नौवां स्थान था। पंजाब किंग्स ने उनको 12 करोड़ में रिटेन किया हालांकि उनके पर्स से 14 करोड़ काटे जाएंगे।

वहीं गेंदबाज अर्शदीप सिंह की बात की जाए तो उन्होंने भी 12 मैचों में 19 की औसत से 18 विकेट चटकाए। वह भी सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में नौवें स्थान पर हैं। अर्शदीप को 4 करोड़ देकर पंजाब किंग्स ने रिटेन किया।

गोयनका के कप्तान बन सकते हैं केएल राहुल

जैसे पंजाब किंग्स से अनबन की खबरें सही साबित हुई वैसे ही यह खबर भी आगे चलकर सही साबित हो सकती है कि केएल राहुल गोयनका की टीम के कप्तान बन जाएं। कुछ फ्रेंचाइजियों ने उनसे संपर्क किया है जिन्होंने उन्हें अपने साथ जोड़ने में रुचि दिखाई है।

राहुल की स्ट्राइक रेट संदेह के घेरे में

राहुल लगातार चौथे साल टूर्नामेंट में शीर्ष तीन स्कोररों में शामिल थे, उन्होंने 13 मैचों में 626 रन बनाए, लेकिन उनका स्ट्राइक रेट फिर से एक बड़ा चर्चा का विषय था। उन्होंने 2021 सीज़न की शुरुआत 50 गेंदों में 91 के साथ की, लेकिन रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ 57 गेंद में 91 नाबाद और चेन्नई सुपर किंग्स के ख़िलाफ़ 42 गेंद पर नाबाद 98 रनों की दो पारियों को छोड़कर, धीरे-धीरे स्कोर करने के कारण उनका स्ट्राइक रेट खिसकता चला गया। बाक़ी दस मैचों में उनका स्ट्राइक रेट सिर्फ़ 114 के क़रीब था। उनके रूढ़िवादी दृष्टिकोण का हमेशा टीम पर वांछित प्रभाव नहीं पड़ा, जिसे उन्होंने स्वीकार भी किया।

बायो-बबल की थकान का हवाला देते हुए पंजाब किंग्स के अनुभवी बल्लेबाज़ क्रिस गेल ने यूएई में टीम का साथ छोड़ दिया। सीपीएल बायो-बबल से बाहर आने के बाद गेल ने कहा कि वह टी20 विश्व कप से पहले मानसिक रूप से ख़ुद को तरोताज़ा करना चाहते हैं।

नया नाम भी नहीं बदल सका पंजाब की किस्मत

किंग्स इलेवन पंजाब ने अपना नाम बदलकर पंजाब किंग्स रखा लेकिन ये नया नाम भी पंजाब की किस्मत नहीं बदल सका और पंजाब की टीम लगातार दूसरे वर्ष 12 अंकों के साथ तालिका में छठे स्थान पर रही।

एक नए नाम के साथ सीज़न की शुरुआत करते हुए, पंजाब किंग्स ने जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की, लेकिन अपने अगले सात मैचों में से पांच में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। यूएई में, एक जीत हासिल करने के लिए उनका संघर्ष जारी रहा और वे अंक तालिका के बीच में एक जटिल स्थिति में फंस गए। उन्होंने अपने पिछले तीन मैच जीते लेकिन ख़राब नेट रन रेट के कारण प्लेऑफ़ की दौड़ से बाहर हो गए।

उनकी बल्लेबाज़ी में समस्याएं बनी रहीं, जो लोकेश राहुल और मयंक अग्रवाल की सलामी जोड़ी के आउट होने के बाद विफल होती दिख रही थी। लेकिन सकारात्मक पक्ष पर बात करें तो उनके अनकैप्ड भारतीय गेंदबाज़ अर्शदीप सिंह, रवि बिश्नोई और हरप्रीत बराड़ हर मौक़े पर खरे उतरे।



और भी पढ़ें :