1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Skipper Harmanpreet Kaur loves to play on English soil
Written By
पुनः संशोधित गुरुवार, 22 सितम्बर 2022 (12:59 IST)

हर बार इंग्लैंड की धरती पर चलता है कप्तान हरमनप्रीत कौर का बल्ला

Man Of the Match बनी कप्तान

हर खिलाड़ी के लिए कुछ देश बहुत भाग्यशाली होते हैं। ऐसे ही भारतीय क्रिकेट टीम की नवनियुक्त वनडे कप्तान हरमनप्रीत कौर के लिए भी यह कहा जा सकता है। हाल ही में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भी उनका बल्ला खूब चला था। ऑस्ट्रेलिया से हुए फाइनल में उन्होंने अर्धशतक जड़ा था। इससे पहले भी 2017 में हुए वनडे विश्वकप में वह इंग्लैंड के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को अपने बल्ले का कोपभजन बना चुकी थी। यहीं से हरमनप्रीत कौर की लोकप्रियता एक अलग स्तर तक गई।
बुधवार को भारत ने हरमनप्रीत कौर (143 नाबाद) के विशाल शतक के बाद रेणुका सिंह ठाकुर (57/4) की शानदार गेंदबाजी की बदौलत इंग्लैंड को दूसरे महिला वनडे में  88 रन से हराकर 15 साल बाद ब्रिटिश सरजमीन पर एकदिवसीय शृंखला जीती।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 333 रन बनाये, जिसके जवाब में इंग्लैंड 245 रन ही बना सकी। इस जीत के साथ भारत ने तीन मैचों की एकदिवसीय शृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल की और 2007 के बाद पहली बार इंग्लैंड में एकदिवसीय सीरीज जीती।

हरमनप्रीत ने भारत के लिये कप्तानी पारी खेलते हुए 111 गेंदों पर 18 चौकों और चार छक्कों की बदौलत 143 रन बनाये। उनका साथ देते हुए हरलीन देओल ने भी 58 रन जोड़े।

इंग्लैंड की ओर से डेनियल वायट ने 58 गेंदों पर छह चौकों के साथ 65 रन की जुझारू पारी खेली, लेकिन रेणुका की गेंद पर उनका विकेट गिरने के साथ ही इंग्लैंड की उम्मीदों पर पूर्ण विराम लग गया। रेणुका ने अपनी घातक गेंदबाजी की बदौलत 10 में 57 रन देकर चार विकेट चटकाये।

वनडे विश्वकप 2017 सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 171 की पारी ने दिलाई लोकप्रियता

हरमनप्रीत कौर भारतीय महिला क्रिकेट में एक अनजाना नाम था लेकिन 2017 वनडे विश्कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुश्किल परिस्थितियों में तूफानी पारी खेलकर उन्हें सभी क्रिकेट प्रेमी जानने लग गए थे। उन्होंने अपनी इस शानदार पारी में 7 छक्कों और 20 चौकों की मदद से 171 रन ठोक डाले थे।

हरमनप्रीत की विस्फोटकीय पारी से भारतीय टीम आईसीसी महिला विश्व कप के फाइनल में पहुंचने में सफल रही थी। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में 171 रनों की शानदार पारी खेली थी। जिससे भारत ने 36 रन से जीत दर्ज की थी। यह महिला क्रिकेट की महान वनडे पारियों में से एक भी रहीे थी।

वनडे विश्वकप 2022 से पहले बुरे फॉर्म से जूझ रही थी हरमनप्रीत कौर

तैंतीस वर्षीय हरमनप्रीत पिछले कुछ समय से वनडे में रन बनाने के लिये जूझ रही थी।हरमनप्रीत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की वनडे श्रृंखला के पहले तीन मैचों में केवल 33 रन बनाये थे। हरमनप्रीत कीवी टीम के खिलाफ अपनी तीन पारियों मे केवल 10, 10 और 13 रन ही बना सकी थी।

उनपर बल्ले से प्रदर्शन करने का चौतरफा दबाव वैसे ही बढ़ता जा रहा था जैसे पुरुष क्रिकेट में पुजारा और रहाणे पर बढ़ा था।उन्हें चौथे मैच से बाहर कर दिया गया था। इसके बाद हरमनप्रीत ने आखिरी वनडे में 6 चौकों और 1 छक्के के सहारे 66 गेंदों में 63 रन बनाए थे।
ये भी पढ़ें
हार्दिक ने कहा हार से सीखेंगे, तो पाकिस्तानी अदाकारा ने यह कहकर ली चुटकी