शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Sara Tendulkar slams troller of Arjun Tendulkar in an Epic way
Written By
Last Updated: शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2021 (18:03 IST)

भाई अर्जुन की ट्रोलिंग पर बहन सारा ने दिया करारा जवाब- "मुझे तुम पर गर्व है"

मुम्बई:नीलामी लिस्ट में जब से अर्जुन तेंदुलकर का नाम आया है, तभी से सोशल मीडिया पर उनको जमकर ट्रोल किया जा रहा है। अर्जुन के नीलामी में बिकने के बाद से उनको और भी ट्रोल किया गया। अर्जुन को ट्रोल करते हुए फैन्स ने कहा है कि उन्हें तेंदुलकर सरनेम की वजह से खरीदा गया है।


अर्जुन तेंदुलकर को लेकर ट्विटर पर दिलचस्प मुकाबला शुरु हुआ। कुछ फैंस का मानना था कि अर्जुन सचिन के बेटे हैं इसलिए उनको अन्य खिलाड़ियों के मुकाबले तरजीह मिली। वहीं दूसरे फैंस का मानना है कि ऐसा तो नहीं है कि वह बुरे प्रदर्शन के बावजूद अंतिम ग्यारह में है , फिर अर्जुन पर ऐसे आरोप क्यों लग रहे हैं।

 
इस पर अर्जुन की बहन सारा तेंदुलकर ने इंस्टाग्राम के जरिए अर्जुन की आलोचना करने वालों को जवाब दिया है। सारा ने इंस्टाग्राम के जरिए भाई अर्जुन को बधाई भी और साथ ही कड़े शब्दों में लिखा, "कोई भी तुमसे यह उपलब्धि नहीं छीन सकता है, यह तुम्हारा है। मुझे तुम पर गर्व है।"सारा ने यह शब्द अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखे थे।

जहीर ने माना अर्जुन हैं मेहनती लड़का
 
गत चैंपियन मुंबई इंडियंस टीम के क्रिकेट निदेशक और पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज जहीर खान ने आईपीएल नीलामी में सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को खरीदे जाने पर कहा है कि अर्जुन मेहनती लड़का है और उसे खुद को साबित करना होगा।
 
चेन्नई में गुरूवार को हुई आईपीएल नीलामी में आखिरी बोली अर्जुन की लगी, जिन्हें 20 लाख के बेस प्राइस पर मुंबई इंडियंस ने खरीदा। अर्जुन ने टीम में शामिल होने को लेकर कोच, सपोर्ट स्टाफ और टीम मालिकों का शुक्रिया अदा किया है जबकि मुंबई इंडियंस के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट जहीर खान ने कहा कि अर्जुन मेहनती लड़का है और उसे खुद को साबित करना होगा। अर्जुन इस सत्र में मुंबई की तरफ से सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खेले थे।

सैयद मुश्ताक अली खेलने के बाद ही अर्जुन आईपीएल में पंजीकरण के लिए योग्य हो गए थे। 1114 खिलाड़ियों ने पंजीकरण कराया था लेकिन बोलियों के लिए 292 खिलाड़ी ही रजिस्टर हुए। इनमें से 61 खिलाड़ियों को चुना जाना था। अर्जुन इन सारी बाधाओं को पार कर मुंबई इंडियन्स की टीम तक पहुंच गए। अनकैप्ड खिलाड़ियों की श्रेणी में होने के कारण अर्जुन तेंदुलकर का बेस प्राइस 20 लाख था।

ऑलराउंडर अर्जुन तेंदुलकर के लिए यह टूर्नामेंट फीका गया था और मुंबई के लिए टी-20 प्रारुप में दो मैच खेलते हुए उन्होंने मात्र 3 रन बनाने के अलावा 2 विकेट चटकाए थे। अर्जुन को पहले भी टीम इंडिया के बल्लेबाजों को नेट पर गेंदबाजी करते हुए देखा गया है। वे श्रीलंका दौरे पर भारत की अंडर-19 टीम की कप्तानी कर चुके हैं।(वार्ता)
ये भी पढ़ें
हरभजन सिंह को आदर्श मानते हैं कृष्णप्पा गौतम, अब CSK में लेंगे उनकी जगह