ICC Cricket World Cup : ऋषभ पंत और रायुडू को राहत, वर्ल्ड कप टीम के साथ जाएंगे इंग्लैंड

पुनः संशोधित बुधवार, 17 अप्रैल 2019 (22:30 IST)
नई दिल्ली। बल्लेबाज अंबाती रायुडू और विकेटकीपर को विश्वकप टीम में न चुने जाने के बाद देशव्यापी बहस के बीच चयनकर्ताओं ने इन दोनों खिलाड़ियों तथा तेज गेंदबाज नवदीप सैनी को इंग्लैंड में होने वाले इस मेगा टूर्नामेंट के लिए वैकल्पिक खिलाड़ियों में शामिल किया है।
समझा जाता है कि चयनकर्ताओं ने इन तीनों खिलाड़ियों को 15 सदस्यीय टीम के साथ वैकल्पिक खिलाड़ियों के रूप में जोड़ा है ताकि किसी खिलाड़ी के चोटिल होने की स्थिति में इनमें से किसी को विश्वकप टीम में शामिल किया जा सके। चयनकर्ताओं ने सोमवार को विश्वकप के लिए 15 सदस्यीय टीम की घोषणा की थी।

इन तीन खिलाड़ियों में से किसी को भी परिस्थिति के हिसाब से चुना जाएगा और चयनकर्ता यह देखेंगे कि टीम की जरूरत के अनुसार किसे चुना जाना है। इन तीन खिलाड़ियों में से केवल नवदीप ही मुख्य टीम के साथ इंग्लैंड जाएंगे। नवदीप उन चार तेज़ गेंदबाजों में से एक हैं जिन्हें टीम की तैयारियों में मदद देने के लिए चुना गया है और ये चारों तेज़ गेंदबाज़ टीम के साथ इंग्लैंड जाएंगे।
तीन अन्य तेज़ गेंदबाज आवेश खान, खलील अहमद और दीपक चाहर हैं। चयनकर्ता प्रमुख एमएसके प्रसाद ने टीम की घोषणा करते हुए बताया था कि चयन के लिए नवदीप सैनी और खलील अहमद के नामों की भी चर्चा हुई थी, लेकिन अब ये चार तेज़ गेंदबाज विश्वकप से पहले भारतीय बल्लेबाजों की तैयारियों में मदद करेंगे।

नया घटनाक्रम रायुडू और पंत दोनों के लिए थोड़ी राहत की बात हो सकती है जो एक समय विश्वकप टीम में जगह बनाने के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे। रायुडू ने ऑलराउंडर विजय शंकर के चयन को लेकर प्रसाद की टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि वे विश्वकप देखने के लिए थ्रीडी चश्मा खरीदेंगे।
प्रसाद ने शंकर के चयन पर कहा था कि उनके तीन आयामी पहलू को देखते हुए उन्हें टीम में चुना गया है। प्रसाद का कहना था कि शंकर बल्लेबाज़ और मध्यम तेज़ गेंदबाज़ होने के साथ साथ अच्छे फील्डर भी हैं। पंत ने हालांकि कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की थी, लेकिन रायुडू ने ट्विटर का सहारा लेते हुए जो प्रतिक्रिया व्यक्त की थी वह खेल के हलकों में आग की तरह फैल गई।

बीसीसीआई और चयनकर्ताओं दोनों ने रायुडू की टिप्पणी का संज्ञान लिया था लेकिन इसे भावनात्मक करार दिया गया था। आईसीसी ने स्पष्ट किया है कि टीमें 23 मई तक अपने दल में कोई परिवर्तन कर सकती हैं और इसके लिए उन्हें आईसीसी की तकनीकी समिति की अनुमति नहीं चाहिए। वैसे प्रसाद यह कह चुके हैं कि विश्वकप के लिए यही टीम रहेगी और इसमें परिवर्तन की गुंजाइश नहीं होगी।
बीसीसीआई हालांकि रायुडू की टिप्पणी को भावनात्मक करार दे रहा है, लेकिन यह समझना मुश्किल है कि बोर्ड ने रायुडू की टिप्प्णी के दबाव में उन्हें वैकल्पिक खिलाड़ियों में रखने जैसा कदम उठाया है या यह उसका स्वैच्छा से लिया गया फैसला है।
पंत को बाहर रखने पर प्रसाद ने कहा था कि टीम में दूसरे विकेट के लिए दिनेश कार्तिक को उनकी दबाव में बेहतर खेलने की क्षमता के कारण चुना गया है, लेकिन अब पंत को वैकल्पिक खिलाड़ियों में रखना समझ से परे है क्योंकि टीम में महेंद्रसिंह धोनी और कार्तिक के रूप में दो विकेटकीपर पहले से ही मौजूद हैं।
भारत विश्वकप में अपने अभियान की शुरुआत 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साउथम्पटन में करेगा। भारत विश्वकप शुरू होने से पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ ओवल में 25 मई को और बांग्लादेश के खिलाफ कार्डिफ में 28 मई को अभ्यास मैच खेलेगा।

विश्वकप में भारत का दूसरा मैच ओवल में 9 जून को ऑस्ट्रेलिया से होगा। भारत इसके बाद न्यूजीलैंड से 13 जून को ट्रेंट ब्रिज में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से 16 जून को ओल्ड ट्रेफर्ड में, अफगानिस्तान से हैम्पशायर में 22 जून को, वेस्टइंडीज़ से ओल्ड ट्रेफर्ड में 27 जून को, इंग्लैंड से एजबस्टन में 30 जून को, बंगलादेश से एजबस्टन में 2 जुलाई को और श्रीलंका से हेडिंग्ले में 6 जुलाई को खेलेगा।

 

और भी पढ़ें :