Ravi Shastri को टेस्ट सीरीज में पूरे 120 अंक हासिल करने का भरोसा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 14 फ़रवरी 2020 (20:47 IST)
हेमिल्टन। न्यूजीलैंड के खिलाफ 21 फरवरी से शुरु होने जा रही दो टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने कहा है कि टीम इस सीरीज में नंबर एक टेस्ट टीम की तरह प्रदर्शन करेगी और पूरे 120 अंक हासिल करेगी।
भारत विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में 360 अंकों के साथ शीर्ष पर है। भारत ने पहले वेस्टइंडीज को 2-0 से और फिर दक्षिण अफ्रीका को 3-0 तथा बंगलादेश को 2-0 से घरेलू जमीन पर हराया था। भारत और न्यूजीलैंड के बीच 21 फरवरी से वेलिंग्टन में दो मैचों में टेस्ट सीरीज होनी है।

शास्त्री ने कहा, 6 टेस्ट में से 2 टेस्ट मैच विदेशी जमीन पर जीतना एक सुखद शुरुआत होगी। हमें इस साल न्यूजीलैंड से 2 और ऑस्ट्रेलिसा से 4 सहित कुल 6 टेस्ट मुकाबले खेलने हैं और हम इन मुकाबलों में विश्व की नंबर एक टीम की तरह खेलेंगे। न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम टेस्ट सीरीज में पूरे 120 अंक हासिल करने के इरादे से उतरेगी।
भारत इस सीरीज में रोहित शर्मा के बिना खेलने उतरेगी जो पिंडली में चोट के कारण टीम से बाहर हैं। रोहित की जगह टीम में मयंक अग्रवाल को शामिल किया गया है और पृथ्वी शॉ पहले से ही शिखर धवन की जगह टीम में शामिल हैं। इन दो बल्लेबाजों के अलावा इंडिया ए की तरफ से उम्दा प्रदर्शन करने वाले शुभमन गिल को भी न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम में जगह दी गई है।

शास्त्री ने कहा, पृथ्वी और गिल दोनों ही बल्लेबाज बेहतरीन बल्लेबाजी करते हैं। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि इनमें से किसे अंतिम एकादश में जगह मिलेगी बल्कि यह मायने रखता है कि यह दोनों खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम का हिस्सा हैं। इन खिलाड़ियों को भी पता है कि उनके लिए यह बात ज्यादा जरुरी है।
शुभमन के बारे कोच ने कहा, वह काफी प्रतिभाशाली हैं और उनकी बल्लेबाजी काफी स्थिर है और वह सकारात्मक भाव के साथ बल्लेबाजी करने उतरते हैं। ऐसे युवा खिलाड़ी जिनकी उम्र 20 या 21 साल है उसके लिए यह बहुत महत्वपूर्ण बात है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जा रहे अभ्यास मैच की पहली पारी में पृथ्वी, मयंक और शुभमन तीनों ही बल्लेबाज फ्लॉप रहे। पहली पारी में पृथ्वी और गिल बिना खाता खोले आउट हुए जबकि मयंक ने एक रन बनाए। तीनों बल्लेबाजों को स्कॉट कुगेलजिन ने आउट किया।
शास्त्री ने कहा, यह सभी एक ही स्कूल से हैं और इन्हें नई गेंद से खेलना और चुनौती स्वीकार करना पसंद है। दुर्भाग्य से रोहित इस सीरीज से बाहर है जिसके कारण पृथ्वी और शुभमन में से किसी एक को मयंक के साथ ओपनिंग करनी है। यह प्रतिस्पर्धा जरुरी है।




और भी पढ़ें :