दो फेज में होगी रणजी ट्रॉफी, IPL 2022 के कारण BCCI ने लिया फैसला

Last Updated: शुक्रवार, 28 जनवरी 2022 (16:34 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली: देश की प्रमुख रेड-बॉल प्रथम श्रेणी प्रतियोगिता रणजी ट्रॉफी दो चरणों में आयोजित की जाएगी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने शुक्रवार को इसकी पुष्टि की।कोरोना महामारी की मौजूदा तीसरी लहर के कारण स्थगित हुए इस टूर्नामेंट के लीग चरण के मैच की शुरुआत से पहले और जून में नॉकआउट चरण खेले जाने की उम्मीद है।

शाह ने शुक्रवार को राज्य क्रिकेट संघों को लिखे एक पत्र में कहा, “ मैं आप सभी को यह बताने के लिए पत्र लिख रहा हूं कि रास्ता साफ हो गया है और हम जल्द ही रणजी ट्रॉफी 2021-22 सत्र आयोजित करने के लिए तैयार हैं। बोर्ड ने इस सीजन दो चरणों में रणजी ट्रॉफी आयोजित करने का फैसला किया है। पहले चरण में हम लीग चरण के सभी मैचों को पूरा करने की योजना बना रहे हैं, जबकि नॉकआउट चरण के मैच जून में होंगे। मेरी टीम कोरोना महामारी के कारण होने वाले किसी भी प्रकार के स्वास्थ्य जोखिम को कम करने के लिए मिलकर काम कर रही है, साथ ही साथ एक अत्यधिक प्रतिस्पर्धी रेड-बॉल क्रिकेट प्रतियोगिता कराना सुनिश्चित कर रही है। ”

बीसीसीआई सचिव ने कहा, “ रणजी ट्रॉफी हमारी सबसे प्रतिष्ठित घरेलू प्रतियोगिता है, जो हर साल भारतीय क्रिकेट को एक उत्साही प्रतिभा पूल प्रदान करती रही है। यकीनन यह महत्वपूर्ण है कि हम इस प्रमुख टूर्नामेंट के हितों की रक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएं। ”

शाह ने कहा, “ देश भर में रोजाना कोरोना संक्रमित होने वालों की संख्या में अब गिरावट शुरू हो गई है, जबकि ठीक होने की दर बढ़ रही है। अब हम पहले की तुलना में टूर्नामेंट का आयोजन करने के लिए काफी बेहतर स्थिति में हैं। किसी भी संभावित जोखिम को कम करने के लिए हमारे पास बायो-बबल वातावरण का विकल्प बना रहेगा। बोर्ड एक स्वस्थ और सुरक्षित वातावरण प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है और हमारे सभी प्रमुख हितधारकों के लिए एक सुरक्षित टूर्नामेंट सुनिश्चित करने में आपका समर्थन चाहता है। ”

अभी की योजना के अनुसार लीग चरण का आयोजन फरवरी से मार्च तक एक महीने करने की है जबकि अगला चरण जून – जुलाई में आयोजित किया जाएगा जबकि देश के कुछ क्षेत्रों में मानसून शुरू हो जाता है जबकि कुछ हिस्सों में गर्मी अपने चरम पर होती है।

धूमल ने बैठक के बाद कहा, ‘हम रणजी ट्रॉफी के आयोजन की संभावना तलाश रहे हैं। जब इसे स्थगित किया गया तब मामले बढ़ रहे थे। अब लगता है कि मामले कम हो रहे हैं। संचालन टीम इस पर काम कर रही है कि क्या हम अगले महीने लीग चरण का आयोजन कर सकते हैं और बाकी टूर्नामेंट बाद में (आईपीएल) पूरा कर सकते हैं।’

ALSO READ:

IPL मेगा ऑक्शन से पहले मॉक ऑक्शन करेगी कोलकाता, फैंस देंगे सुझाव

धूमल ने कहा, ‘संचालन टीम मौसम के अलावा स्थलों की उपलब्धता और खिलाड़ियों की उपलब्धता पर भी काम करेगी। हम टूर्नामेंट के आयोजन के इच्छुक हैं और इसलिए हम खिलाड़ियों की सुरक्षा से समझौता किये बिना इसके आयोजन के लिए संभावनाएं तलाश रहे हैं।’ महामारी के कारण पिछले सत्र में भी रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं हो पाया था।

कोरोना के कारण 13 जनवरी से शुरू नहीं हुई रणजी ट्रॉफी

भारत का शीर्ष घरेलू प्रथम श्रेणी टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी देश में बढते कोरोना मामलों के कारण 13 जनवरी से शुरू नहीं हो पाया था और यह टूर्नामेंट स्थगित हो गया था।

बंगाल टीम में कोरोना संक्रमण के छह मामले आये थे जिनमें पांच खिलाड़ी थे। इसके अलावा मुंबई के शिवम दुबे भी पॉजिटिव पाये गए थे जिन्होंने कड़ा पृथकवास गुजाारा था। रणजी ट्रॉफी का आयोजन छह शहरों में होना था जिसमें बेंगलुरू और कोलकाता शामिल है।



और भी पढ़ें :