क्या मोइन खान के कारण ही मिली है आज़म खान को टीम में जगह? फिर सवालों के घेरे में आई PCB

पुनः संशोधित शनिवार, 5 जून 2021 (14:56 IST)
इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दौरे के लिए क्रिकेट बोर्ड ने अपनी टीम का ऐलान कर दिया है। इंग्लैंड के खिलाफ पाकिस्तान को आठ से 20 जुलाई के बीच तीन एकदिवसीय और तीन टी20 मैच खेलने हैं, जबकि वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम 27 जुलाई से 24 अगस्त के बीच पांच टी20 और दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलती नजर आएगी।
पीसीबी ने इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दौरे के लिए चुनी गयी टी20 टीम में आज़म खान को भी मौका दिया है। आज़म पेशे से एक दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और सबसे खास बात तो यह है कि वह पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज विकेटकीपर मोइन खान के बेटे हैं। 22 वर्षीय आज़म को पहली बार पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम का हिस्सा बनाया गया है।

अभी तक बहुत खराब रहा है ट्रैक रिकॉर्ड

जब से आज़म खान का नाम पाकिस्तान की टीम में देखने को मिला है, तब से क्रिकेट के गलियारों में लगातार पीसीबी टीम मैनेजमेंट और मोइन खान चर्चा का एक बड़ा विषय बने हुए हैं। दरअसल, आज़म खान ने अभी तक अपने प्रोफेशेनल करियर में केवल एक ही फर्स्ट क्लास मैच खेला है। वहीँ उनके पास 15 लिस्ट ए और 36 टी20 मैचों का ही अनुभव है।
अपने खेले इन सभी मैचों में उनका ट्रैक रिकॉर्ड भी कुछ खास देखने को नहीं मिला है और इस कारण पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और मोइन खान का सोशल मीडिया पर जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। कई फैंस का ऐसा कहना है कि सिर्फ मोइन के कारण ही आज़म खान को राष्ट्रीय टीम का टिकट मिला है।
आज़म खान को टीम में जगह क्यों मिली और पीसीबी का मजाक उड़ना बहुत हद तक जायज भी है। दरअसल, हाल फिलहाल के समय में आज़म खान का प्रदर्शन घरेलू क्रिकेट और पीएसएल में कुछ खास भी देखने को नहीं मिला है। पीएसएल 2021 के सस्पेंड होने से पहले उन्होंने क्वेटा ग्लेडियेटर्स के लिए खेलते हुए पांच मैचों में मात्र 98 रन बनाए थे। ऐसे में उनके चयन पर सवाल उठना लाज़मी है।

फैंस ने दिया पर्ची खिलाड़ी का नाम
आज़म खान के चयन के बाद सोशल मीडिया पर एक फैंस ने उनको पर्ची खिलाड़ी का नाम तक दे डाला और उनकी फिटनेस पर भी काफी सवालियां निशान खड़े किए। दरअसल, आज़म का वजन 100 किलो से ज्यादा है। हालांकि, पहले वो 140 किलो के थे और अब उन्होंने अपने वजन में 32 किलो कम किया है।

बड़े खिलाड़ी रहे हैं मोइन खान

मोइन खान क्रिकेट जगत का एक ऐसा नाम है, जो किसी भी परिचय का मोहताज नहीं है। मोइन पाकिस्तान के नामी खिलाड़ियों में से एक रहे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 69 टेस्ट और 219 एकदिवसीय मैच खेले। विकेट के पीछे उनकी कीपिंग की आज भी क्रिकेट के गलियारों में मिसाल दी जाती है। टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम पर 2741 और वनडे में 3266 रन दर्ज है। विकेट के पीछे उन्होंने 342 कैच और 93 स्टंप किए। मोइन पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कोच के पद पर भी काम कर चुके हैं।
मौजूदा समय में मोइन खान (पीएसएल) में क्वेटा ग्लेडियेटर्स के हेड कोच हैं और इसी टीम के साथ उनके बेटे आज़म भी खेलते हैं।

पहले भी लग चुके हैं PCB पर आरोप

वैसे यह बात सभी जानते हैं कि पीसीबी के ऊपर शुरु से ही खिलाड़ियों के चयन के पीछे पक्षपात का आरोप लगता रहा है। स्टार तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने तो यह कहकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया था कि पाक टीम में चयन कोच और मुख्य चयनकर्ता मिस्बाह उल हक के हिसाब से होता है।



और भी पढ़ें :