मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. PCB
Written By
पुनः संशोधित गुरुवार, 16 अक्टूबर 2014 (18:41 IST)

पीसीबी ने लिया चैंपियंस लीग में मिली राशि का बड़ा हिस्सा

कराची। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने हाल में भारत में समाप्त चैंपियंस लीग टी-20 के दौरान लाहौर लायंस की टीम द्वारा टूर्नामेंट में शामिल होने के लिए मिली राशि का करीब 60 प्रतिशत हिस्सा ले लिया है जिससे मोहम्मद हफीज एवं कंपनी को अपनी मेहनत की 5,00,000 डॉलर (करीब 3 करोड़ रुपए) की कमाई से केवल 1,00,000 डॉलर ही मिले हैं।
 
लाहौर लायंस टीम के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक पीसीबी ने इस राशि से 2,75,000 डॉलर ले लिए हैं जबकि बची हुई राशि 1,25,000 डॉलर कर के रूप में काट ली गई है और बचे हुए 1,00,000 डॉलर खिलाड़ियों के बीच बांटे जाएंगे।
 
सूत्र के अनुसार उनके कप्तान हफीज ने हालांकि पीसीबी को इस बात के लिए मना लिया है कि वह खिलाड़ियों को वह इनामी राशि वितरित कर दे, जो उन्होंने मुख्य राउंड के लिए क्वालीफाई करने के लिए जीती थी।
 
सूत्र ने कहा कि मुख्य राउंड में खेलने की राशि करीब 2,00,000 डॉलर की है और पीसीबी ने कहा कि यह राशि खिलाड़ियों द्वारा वितरित की जा सकती है। इसका मतलब है कि खिलाड़ियों के पास आपस में बांटने के लए 3,00,000 डॉलर की राशि है।
 
उन्होंने कहा कि इससे प्रत्येक खिलाड़ी को चैंपियंस लीग से करीब 17 से 18,000 डॉलर के करीब कमाई करनी चाहिए। लाहौर की टीम चैंपियंस लीग टी-20 में काफी करीब से सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करने से चूक गई थी।
 
बीते समय में भी सियालकोट स्टालियंस और फैसलाबाद वोल्व्स की टीमें चैंपियंस लीग में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं और उनका भी पीसीबी के साथ टूर्नामेंट की राशि वितरित करने को लेकर विवाद हुआ था। (भाषा)