सिडनी टेस्ट ड्रॉ होने के बाद यह कहा भारत और ऑस्ट्रेलिया के कप्तानों ने

पुनः संशोधित सोमवार, 11 जनवरी 2021 (16:40 IST)
सिडनी:ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी चार टेस्ट मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच को ड्रॉ करने के बाद भारतीय टीम के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने सोमवार को यहां कहा कि पांचवें और अंतिम दिन का खेल शुरू होने से पहले सुबह टीम की योजना मैच के परिणाम के बारे में सोचे बिना प्रदर्शन करने और अंत तक संघर्ष करने की थी।
रहाणे ने मैच के बाद कहा, ‘‘पांचवें और अंतिम दिन का खेल शुरू होने से पहले हमने अपना जज्बा दिखाने और अंत तक लड़ने करने के बारे में बात की थी। हम परिणाम के बारे में नहीं सोच रहे थे। जिस तरह से आज हमने संघर्ष किया खासकर पूरे मैच में उससे वास्तव मैं खुश हूं। केवल यही नहीं बल्कि जब पहली पारी में भी ऑस्ट्रेलियाई टीम दो विकेट पर 200 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी लेकिन हमने उन्हें 338 रन पर आउट करके वापसी की।’’
उन्होंने कहा, ‘‘हनुमा विहारी और रविचंद्रन अश्विन की प्रशंसा करनी होगी लेकिन अभी भी ऐसे कुछ विभाग है जहां हम सुधार कर सकते हैं। जिस तरह से हनुमा और अश्विन ने अंत में बल्लेबाजी की और जज्बा दिखाया वह वास्तव में अच्छा था। पंत ने जिस तरह से बल्लेबाजी की, उसे भी श्रेय दिया जाना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि टीम ने ये रणनीति बनाई लेकिन अंत में सब कुछ योजना को अंजाम देने वाले खिलाड़ी के ऊपर सब है।
कप्तान ने इसके अलावा ट्वीट कर कहा, ‘‘चोटिल हुए,टूटे लेकिन जज्बा कम नहीं हुआ। जिस तरह से खिलाड़ियों ने प्रदर्शन किया उससे मैं बहुत खुश हूं। ब्रिस्बेन में अंतिम मुकाबले से पहले बहुत कुछ सीखने हुए सुधारने के लिए बाकी है।’’
ड्रा को पचा पाना मुश्किल लेकिन हमने कई मौके गवाएं : टिम
ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने सिडनी में भारत के खिलाफ तीसरे तीसरे टेस्ट मैच में हुए ड्रा को लेकर सोमवार को यहां कहा कि इस ड्रा को पचाना बेहद मुश्किल है लेकिन हमने कई कैच कई टपकाये।

कप्तान पेन ने इस प्रदर्शन की जिम्मेदारी खुद लेते हुए कहा कि उनकी टीम ने कई कैच टपकाये। पेन ने हालांकि पांचवें दिन खुद दो बार पंत का और एक बार विहारी का कैच टपकाया जिसके चलते ऑस्ट्रेलिया मैच में वापसी अपनी पकड़ बनाने में कामयाब नहीं हो सका।
उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने मैच जीतने के लिए पर्याप्त मौके बनाए थे लेकिन इस ड्रा मैच के नतीजे को पचा पाना मुश्किल है। हमारे गेंदबाज शानदार थे और नाथन लियोन ने अच्छी गेंदबाजी की। बस हम कैच पकडने में नाकाम रहे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अब मैं ब्रिस्बेन का इंतजार कर रहा हूं। हमने पिछले दो मैचों में अपना सर्वश्रेष्ठ खेल नहीं खेला, लेकिन हम इस टेस्ट में बल्ले से थोड़े अच्छे थे। हमारे लिए कुछ सकारात्मक पहलू भी है। इस मुकाबले में हमारे गेंदबाजों ने काफी मौके भी बनाए।’’
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा, ‘‘सभी खिलाड़ियों ने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की लेकिन चीजें हमारे पक्ष में नहीं गई। मुझे लगता है कि टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले दो युवा खिलाड़ी विल पुकोवस्की और कैमरून ग्रीन के लिए यह बहुत अच्छी बात है क्योंकि वे नए हैं।’’(वार्ता)



और भी पढ़ें :