6 बिलियन US डॉलर का है भारतीय ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स उद्योग, 60% बढ़ा दी है खेलों की व्यूअरशिप

Last Updated: बुधवार, 3 मार्च 2021 (14:19 IST)
भारत में जितने खेले जाते हैं उससे ज्यादा उसको देखने वाले है। खासकर क्रिकेट के लिए यह बात कही जा सकती है, इसको बेइंतहा पसंद करने वाले लोगों के कारण इस खेल के खिलाड़ियों की मैच फीस और दूसरे खेल के खिलाड़ियों की मैच फीस में जमीन आसमान का अंतर है। इसका एक कारण यह भी है क्योंकि टीवी पर क्रिकेट सबसे ज्यादा देखने वाला खेल है।
ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स, एक है जो भारत में खेलों के व्यूअरशिप बढ़ाने के कार्य का संपादन करता है। इस संस्था ने हाल ही में कुछ आंकड़े प्रस्तुत किए है जिससे यह मालूम चलता है कि फैंटसी लीग आने के बाद खेलों की व्यूअरशिप किस कदर बढ़ी है।
भारत में क्रिकेट, फुटबॉल, बास्केटबॉल, कबड्डी, हॉकी, बेसबॉल आदि 11 से अधिक टीम खेलों के लिए ऑनलाइन फैंटेसी स्पोर्ट्स मैच उपलब्ध हैं।

पिछले महीने कोन एडवाइजरी ग्रुप द्वारा प्रकाशित एक उपभोक्ता सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार, 67% से अधिक उपभोक्ता को खेल से जुड़ने का एक अनूठा तरीका मानते हैं, और उनमें से 70% ने नए खेल, लीग और खिलाड़ियों का पता लगाने के लिए इससे जुड़ना मुनासिब समझा।

हालिया शोध से पता चलता है कि 60% उपभोक्ता ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स के कारण पहले की तुलना में खेलों को अधिक देखते हैं या अनुसरण करते हैं।

वहीं 59% उपभोक्ता ने ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स के कारण नए प्रकार के खेल देखना शुरू किए हैं। कुल 48% उपभोक्ता अब हर खेल में रूचि रखते हैं, फिर उसमें उनकी मनपसंदीदा या घरेलू टीम हो चाहे ना हो।

इसके अलावा केपीएमजी-आईएफएसजी की तीन साल पुरानी रिपोर्ट के अनुसार, 74% उपभोक्ता सप्ताह में 1 से 3 बार ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स खेलते हैं और लगभग 20% एक सप्ताह में 5 बार से अधिक खेलते हैं, अब तो इस आंकड़े के और बढ़ने के आसार है।

प्रमुख घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय खेल निकायों और लीगों ने फैन एंगेजमेंट करने के लिए तमाम ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म के साथ सक्रिय भागीदारी की है।

जब खेल प्रशंसक ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स में भाग लेते हैं, तो वे अपनी फैंटसी स्पोर्ट्स टीम / टीम में चुने गए खिलाड़ियों पर नज़र रखने के लिए अधिक मैच देखते हैं, जो उनके अनुभव को पहले की तुलना में कहीं अधिक इंटरैक्टिव बनाता है।
ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों खेलों को बढ़ावा देने के अलावा, भारतीय ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स उद्योग 6 बिलियन अमेरिकी डॉलर का हो चुका है। ऑनलाइन फैंटसी स्पोर्ट्स उद्योग वित्त वर्ष 20-21 में करों के माध्यम से 1500 करोड़ रुपये का योगदान देगा, जो अगले 3 वर्षों में बढ़कर 10, हजार करोड़ रुपये होने की उम्मीद है।

यह उद्योग आने वाले कुछ वर्षों में 12,000 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियों का सृजन करने की क्षमता रखता है। यह भारतीय खेल प्रेमियों के लिए भारतीय उद्यमियों द्वारा संचालित एक देसी उद्योग का है जो आत्मनिर्भर भारत का एक आदर्श उदाहरण है। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :