20 खिलाड़ियों के साथ भारत में टी-20 विश्वकप खेलने आना चाहती है न्यूजीलैंड!

पुनः संशोधित शनिवार, 20 फ़रवरी 2021 (22:46 IST)
वेलिंगटन: क्रिकेट टीम के कोच गैरी स्टेड ने कहा है कि कोरोना महामारी से खड़ी हुई चुनौतियों के कारण न्यूजीलैंड टीम भारत में इस वर्ष अक्टूबर और नवंबर के बीच के लिए 20 खिलाड़ियों को टीम में शामिल कर सकती है।

गैरी ने शनिवार को कहा, 'कोरोना महामारी को लेकर मौजूदा हालात और दुनिया भर में बदल रही स्थिति के मद्देनजर हमें उम्मीद है कि शायद टी-20 विश्व कप के लिए टीम में 20 खिलाड़ी शामिल हों। कुछ मायनों में इस नीति से टीम में मनचाहा संतुलन बनाना आसान हो जाता हैं। इसकी भी पूरी उम्मीद है कि विश्व कप के लिए उन खिलाड़ियों का चयन किया जाए जो न्यूजीलैंड के लिए अब तक कोई टी-20 मुकाबला नहीं खेले हैं।'


अंतर्राष्ट्रीय टीमें आमतौर पर एकदिवसीय और टी-20 विश्व कप के लिए टीम में 15 खिलाड़ियों को शामिल करती हैं, लेकिन कोरोना महामारी के बीच क्रिकेट के फिर से शुरू होने के बाद से यह ट्रेंड बदल गया है। टीमें अब अधिक संख्या में खिलाड़ियों को शामिल करना पसंद करती हैं, ताकि वे बिना किसी परेशानी के खिलाड़ियों को बदल सकें।

गौरतलब है कि भारत अब तक टी-20 विश्वकप में न्यूजीलैंड को नहीं हरा पाया है। टी-20 विश्वकप में भारत का न्यूजीलैंड से दो बार सामना हुआ है और साल 2007 और साल 2016 में दोनों बार उसे मुंह की खानी पड़ी है।

हालांकि वनडे विश्वकप में लगातार दो बार फाइनल में पहुंचने वाली न्यूजीलैंड की टीम टी-20 विश्वकप के सेमीफाइनल से आगे कभी नहीं जा पायी है। सबसे छोटे फॉर्मेट में भी टीम कप जीतने को आतुर है लेकिन बल्लेबाजों की स्ट्राइक रेट टी-20 के हिसाब से कम पड़ जाती है।


न्यूजीलैंड की मौजूदा टी-20 रैंकिंग भी छठवें स्थान पर है और टीम पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों से भी नीचे है। टीम के दो बल्लेबाज कॉलिन मुनरो, टिम साइफर्ट और दो गेंदबाज टिम साउदी और मिचेल सेंटनर आईसीसी टॉप 10 रैंकिंग में तो शुमार है लेकिन टॉप 5 में एक भी खिलाड़ी नहीं है।
हाल ही में न्यूजीलैंड को ऑस्ट्रेलिया के साथ टी-20 सीरीज खेलनी है। यह सीरीज टीम टी-20 विश्वकप की तैयारियों की तैयारियों के हिसाब से देख रही है।
(वार्ता)



और भी पढ़ें :