ICC टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड हमेशा बना है भारत के लिए गले की हड्डी, 21 साल पहले भी दी थी खिताबी मात

Last Updated: गुरुवार, 24 जून 2021 (12:18 IST)
से अगर में भिड़ रहा है तो समझिए अंत भला होगा नहीं। ऐसा एक नहीं कई बार हुआ है जब नॉक आउट मुकाबले में भारतीय टीम न्यूजीलैंड से भिड़ी है और उसे हार का सामना करना पड़ा है। न्यूजीलैंड आखिरी बार साल 2000 में आईसीसी का फाइनल जीती थी और वहां भी उसने भारत को खिताबी मात दी थी।

आईसीसी फाइनल में तो न्यूजीलैंड ने भारत को 8 विकेट से मात दे ही दी है, लेकिन दिलचस्प बात यह है कि 21 साल पहले जब न्यूजीलैंड ने आईसीसी का खिताब जीता था तो सामने भारत ही खड़ा था।

दादा पर भारी पड़ा कैर्न्स का शतक

साल 2000 में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका जैसी मजबूत टीमों को हराकर आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी के फाइनल में जगह बना पायी थी। सामने थी न्यूजीलैंड जिसने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था।

केन्या के जिमखाना कल्ब ग्राउंड में खेले गए मुकाबले में भारत 141 पर बिना विकेट खोए 300 रनों के लक्ष्य की ओर बढ़ रहा था कि अचानक सचिन और द्रविड़ के रन आउट के बाद भारत की पारी पटरी से उतर गई। शतकवीर सौरव गांगुली (117 रन)
भी अंतिम ओवर में चलते बने। इसके बावजूद भारत 264 रनों का चुनौती पूर्ण लक्ष्य दे पाया।

गेंदबाजी में भी भारत ने अच्छी शुरुआत की 37 रनों पर दोनों कीवी ओपनर आउट हो चुके थे। यही नहीं न्यूजीलैंड एक वक्त पर 136 रनों पर 5 विकेट खो चुका था। लेकिन इसके बाद क्रिस कैर्न्स और क्रिस हैरिस के बीच शतकीय साझेदारी ने मैच भारत से छीन लिया और न्यूजीलैंड 4 विकेट से फाइनल जीतने में सफल हुआ।

2019 के सेमीफाइनल में केन भारी पड़े कोहली पर

रवींद्र जडेजा की आकर्षक पारी के बावजूद भारत को शीर्ष क्रम की नाकामी के कारण विश्व कप सेमीफाइनल में
न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार का सामना करना पड़ा, जिससे उसका क्रिकेट विश्वकप 2019 में सफर भी समाप्त हो गया था। न्यूजीलैंड लगातार दूसरी बार विश्वकप के फाइनल में पहुंचा था।

बारिश से बाधित इस सेमीफाइनल मैच में भारत के सामने 240 रन का लक्ष्य था लेकिन शीर्ष क्रम बुरी तरह लड़खड़ा गया तथा जडेजा (59 गेंदों पर 74) और महेंद्र सिंह धोनी (72 गेंदों पर 50) ने सातवें विकेट के लिए 116 रन जोड़कर मैच को आखिर तक जीवंत बनाए रखा।

भारत ने हालांकि दबाव में आखिरी 4 विकेट 13 रन के अंदर गंवा दिए और इस तरह से न्यूजीलैंड लगातार दूसरी बार फाइनल में जगह बनाने में सफल रहा। भारत 49.3 ओवर में 221 रन पर सिमटा।

1999 वनडे विश्वकप में सुपर सिक्स में किया बाहर

इंग्लैंड में खेले गए 1999 विश्वकप के सुपर सिक्स मैच में न्यूजीलैंड ने भारतीय टीम को 5 विकेट से हरा कर उनके विश्वकप के सफर का अंत कर दिया था। विश्वकप 99 में सुपर सिक्स का मैच जीतना भारत के लिए बेहद जरूरी था। यह मैच हार कर भारत टूर्नामेंट से बाहर हो गया था।

इंग्लैंड के नॉटिंघम में खेले गए इस मुकाबले में भारत के प्रमुख तीन बल्लेबाज ( सचिन, सौरव , द्रविड़) कुछ खास न कर सके और जल्द आउट हो गए। कीवी स्विंग गेंदबाजी के सामने भारत जैसे तैसे करके अजय जड़ेजा के 76 रनों की मदद से 251 रन तक पहुचा। यह ऐसी पिच पर एक अच्छा स्कोर माना जा रहा था।

लेकिन भारतीय गेंदबाजो ने निराश किया। बीच बीच में विकटे जरुर गिरते रहे लेकिन कीवी बल्लेबाजों पर कभी भी रन गति का दबाव नहीं आया। दो ओवर रहते न्यूजीलैंड यह मैच जीत गया और भारत विश्वकप 1999 से बाहर हो गया। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :