नटराजन, शार्दुल ठाकुर टीम इंडिया में शामिल, किसे मिलेगा सिडनी टेस्ट में खेलने का मौका...

पुनः संशोधित शुक्रवार, 1 जनवरी 2021 (15:07 IST)
मेलबोर्न। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने चोटिल तेज गेंदबाजों उमेश यादव और मोहम्मद शमी की जगह क्रमशः बाएं हाथ के तेज गेंदबाज और को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में सात जनवरी से होने वाले तीसरे क्रिकेट टेस्ट के लिए टीम इंडिया में शामिल किया है।
शमी एडिलेड में हुए पहले दिन-रात्रि टेस्ट में पैट कमिंस की बाउंसर पर अपना बाजू चोटिल करा बैठे थे जबकि उमेश मेलबोर्न में दूसरे बॉक्सिंग डे टेस्ट में दूसरी पारी में अपना चौथा ओवर डालने के दौरान अपनी पिंडली चोटिल कर बैठे थे।

शमी पहले टेस्ट के बाद और उमेश दूसरे टेस्ट के बाद सीरीज से बाहर हो गए और अब दोनों तेज गेंदबाज स्वदेश लौट कर बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में रिहेबिलिटेशन से गुजरेंगे।


बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए चार टेस्ट मैचों की यह सीरीज फिलहाल 1-1 से बराबरी पर है और सीरीज का तीसरा टेस्ट सिडनी में 7 जनवरी से खेला जाना है।

नटराजन और ठाकुर दोनों ही तेज गेंदबाज इस दौरे में भारतीय टीम के साथ नेट गेंदबाज के रुप में शामिल थे। नटराजन ने अभी तक भारत के लिए कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है जबकि ठाकुर भारत के लिए एक टेस्ट मैच खेल चुके हैं।

टेस्ट टीम में नवदीप सैनी के रुप में एक अन्य तेज गेंदबाज मौजूद हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि टीम प्रबंधन सिडनी टेस्ट में जसप्रीत बुमराह के साथी तेज गेंदबाजों के रुप में सैनी, नटराजन और ठाकुर में से किन दो तेज गेंदबाजों को मौका देता है।

दूसरे टेस्ट में शमी की जगह तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने टेस्ट पदार्पण किया था और पांच विकेट लेकर अपने चयन को सही साबित किया था। भारत ने मेलबोर्न टेस्ट आठ विकेट से जीतकर सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली है।
भारत के पास टीम में अनुभवी तेज गेंदबाज के रूप में सिर्फ जसप्रीत बुमराह हैं। टेस्ट टीम में नवदीप सैनी एक अन्य तेज गेंदबाज हैं लेकिन अब शार्दुल और नटराजन भी टीम से जुड़ गए हैं। सैनी लगभग एक साल के समय से टीम के साथ जुड़े हुए हैं और पिछले दो वर्षों में सिराज के साथ भारत ए की तरफ से सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं।

ठाकुर भारत की तरफ से एक टेस्ट खेल चुके हैं और यह टेस्ट उन्होंने 2018 में हैदराबाद में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेला था। ठाकुर खुद उस मैच में चोटिल हो गए थे और उसके बाद से वह टेस्ट में नहीं खेले।

नटराजन को चोटिल वरुण चक्रवर्ती की जगह इस दौरे के लिए टी-20 टीम में शामिल किया गया था और वह ऑस्ट्रेलिया में नेट गेंदबाज के रूप में टीम के साथ थे। वह प्रथम श्रेणी में तमिलनाडु के लिए 20 मैचों में 64 विकेट ले चुके हैं। यदि वह सिडनी में एकादश में जगह बनाते हैं तो वह भारत के 299वें टेस्ट खिलाड़ी बनेंगे और 2014 में जहीर खान के वेलिंगटन में खेलने के बाद से भारतीय टेस्ट टीम में खेलने वाले पहले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज बनेंगे। (वार्ता)



और भी पढ़ें :