सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में मुंबई टीम के 4 खिलाड़ी निकले कोरोना पॉजिटिव, टी-20 टीम से हटाए गए

पुनः संशोधित बुधवार, 27 अक्टूबर 2021 (21:27 IST)
मुम्बई:सैयद मुश्ताक अली में हिस्सा लेने जा रही मुम्बई टीम के चार खिलाड़ी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं और उन्हें टीम से हटाकर वापस भेज दिया गया है।सरफराज खान, प्रशांत सोलंकी, शम्स मुलानी और सैराज पाटिल मुंबई हवाई अड्डे पर पॉजिटिव पाए गए। सभी चारों को घर भेज दिया गया है और सात दिनों के लिए आइसोलेशन में रहने को कहा गया है। मुंबई क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने कहा है कि रिप्लेसमेंट जल्द ही भेजे जाएंगे।

नियमों के मुताबिक टूर्नामेंट शुरू होने से एक हफ्ते पहले संबंधित स्थलों पर सात दिन का अनिवार्य क्वारंटीन शुरू करने के लिए अजिंक्या रहाणे के नेतृत्व वाली टीम बुधवार सुबह गुवाहाटी के लिए रवाना हुई। मुंबई हवाईअड्डे पहुंचने पर टीम के चार खिलाड़ियों के वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई और उन्हें तुरंत वापस भेज दिया गया।
समझा जाता है कि इस घटना ने मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) में माहौल बिगाड़ दिया है, जिसमें पहले से ही आंतरिक कलह चल रही है। वहीं इससे उन बायो-बबल मानकों पर भी सवाल खड़े हुए, जिसके तहत खिलाड़ी अभ्यास कर चुके हैं। इसके अलावा खिलाड़ियों को हाल में कमांडो ट्रेनिंग सेंटर में ले जाए जाने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि मुंबई के सभी खिलाड़ी हाल ही में वानखेड़े स्टेडियम में अभ्यास कर चुके हैं और निर्धारित शैड्यूल के मुताबिक आज गुवाहाटी के लिए रवाना होने से एक दिन पहले मंगलवार को भी अभ्यास किया गया था। इस एमसीए के अधिकारी ने एक बयान में कहा, “ यह समय की वास्तविकता है। हम सर्वश्रेष्ठ उपायों के बाद भी कोरोना को नजरअंदाज नहीं कर सकते। कल सभी खिलाड़ियों का अनिवार्य आरटीपीसीआर टेस्ट किया गया था और संक्रमित पाए जाने वालों को हवाईअड्डे न जाने के लिए कहा गया था, लेकिन वे फिर भी वहां गए। बाद में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उन्हें हवाईअड्डे से वापस भेज दिया गया। चयनकर्ताओं को सूचित कर दिया गया। वे जल्द ही रिप्लेसमेंट के तौर पर खिलाड़ियों का चयन करेंगे। ”
आगामी चार नवंबर से टूर्नामेंट का आगाज होगा और मुंबई को कर्नाटक, बंगाल, बड़ौदा, छत्तीसगढ़ और सर्विसेज के साथ एलीट ग्रुप बी में रखा गया है। सभी खिलाड़ी टूर्नामेंट शुरू होने से पहले एक हफ्ते के अनिवार्य क्वारंटीन में रहेंगे।

नियमों के मुताबिक टूर्नामेंट शुरू होने से एक हफ्ते पहले संबंधित स्थलों पर सात दिन का अनिवार्य क्वारंटीन शुरू करने के लिए अजिंक्या रहाणे के नेतृत्व वाली टीम बुधवार सुबह गुवाहाटी के लिए रवाना हुई। मुंबई हवाईअड्डे पहुंचने पर टीम के चार खिलाड़ियों के वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई और उन्हें तुरंत वापस भेज दिया गया।
समझा जाता है कि इस घटना ने मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) में माहौल बिगाड़ दिया है, जिसमें पहले से ही आंतरिक कलह चल रही है। वहीं इससे उन बायो-बबल मानकों पर भी सवाल खड़े हुए, जिसके तहत खिलाड़ी अभ्यास कर चुके हैं। इसके अलावा खिलाड़ियों को हाल में कमांडो ट्रेनिंग सेंटर में ले जाए जाने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि मुंबई के सभी खिलाड़ी हाल ही में वानखेड़े स्टेडियम में अभ्यास कर चुके हैं और निर्धारित शैड्यूल के मुताबिक आज गुवाहाटी के लिए रवाना होने से एक दिन पहले मंगलवार को भी अभ्यास किया गया था। इस एमसीए के अधिकारी ने एक बयान में कहा, “ यह समय की वास्तविकता है। हम सर्वश्रेष्ठ उपायों के बाद भी कोरोना को नजरअंदाज नहीं कर सकते। कल सभी खिलाड़ियों का अनिवार्य आरटीपीसीआर टेस्ट किया गया था और संक्रमित पाए जाने वालों को हवाईअड्डे न जाने के लिए कहा गया था, लेकिन वे फिर भी वहां गए। बाद में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उन्हें हवाईअड्डे से वापस भेज दिया गया। चयनकर्ताओं को सूचित कर दिया गया। वे जल्द ही रिप्लेसमेंट के तौर पर खिलाड़ियों का चयन करेंगे। ”
आगामी चार नवंबर से टूर्नामेंट का आगाज होगा और मुंबई को कर्नाटक, बंगाल, बड़ौदा, छत्तीसगढ़ और सर्विसेज के साथ एलीट ग्रुप बी में रखा गया है। सभी खिलाड़ी टूर्नामेंट शुरू होने से पहले एक हफ्ते के अनिवार्य क्वारंटीन में रहेंगे।(वार्ता)




और भी पढ़ें :