ताउते ने वानखेड़े स्टेडियम में जमकर पहुंचाया नुकसान, 16 फीट की साइटस्क्रीन हुई तहस- नहस

Last Updated: मंगलवार, 18 मई 2021 (15:23 IST)
मुंबई:ताउते ने देश की आर्थिक राजधानी में स्थित को गहरा नुकसान पहुंचाया है औऱ स्टेडियम की 16 फीट की को तहस-नहस कर डाला।
ताउते तूफान ने 90 किलो प्रतिघंटे की रफ्तार से दस्तक दी। उसने मुंबई और आसपास के इलाकों में जमकर तबाही मचाई। कई इलाकों में पानी भर गया। तो कई मकान ढह गए। कई घरों की छतें भी उड़ा ले गया ताउते। ताउते की मचाई तबाही का खौफनाक मंजर देखने के बाद हर कोई हिल गया। इस तूफान ने लोगों के घर उजाड़े, उनके जान, माल को नुकसान पहुंचाया तो साथ ही क्रिकेट को भी नुकसान पहुंचाया।

ताउते से कोच रवि शास्त्री का भी चकराया सिर

टीम इंडिया के प्रमुख कोच रवि शास्त्री का सिर भी ताउते तूफान की ताकत देख चकराता दिखा। ताउते जब मुंबई को तबाह और बर्बाद कर रहा था, उस वक्त रवि शास्त्री ट्विटर पर उसके जोर का वर्णन अपने शब्दों में कर रहे थे । उन्होंने लिखा- ''तूफान तो तूफान होता है बहुत खतरनाक था। ये अब भी जारी है। हमारे फींगर क्रॉस हैं इस उम्मीद के साथ कि तूफ़ान ज्यादा तबाही न मचाए।”
रवि शास्त्री बेशक ताउते से ज्यादा तबाही की उम्मीद न कर रहे हों, लेकिन मुंबई से गुजरात का रुख करते करते उसने वानखेड़े स्टेडियम को नुकसान पहुंचा ही दिया। ताउते तूफान ने वानखेड़े की 16 फीट की साइटस्क्रीन को तहस-नहस कर डाला। मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने बताया कि नॉर्थ स्टैंड पर लगी साइट स्क्रीन को तूफान से नुकसान हुआ है। हवा के तेज दबाव से वो गिर गई है।

आईपीएल में मुंबई इंडियन्स का होम ग्राउंड रहे और साल 2011 में भारतीय टीम की विश्वकप फाइनल जीत का गवाह रहे इस स्टेडियम पर इस सीजन में भी कई मैच खेले गए। वानखेड़े के अलावा चेन्नई के चिन्नास्वामी स्टेडियम में भी मैच खेले गए थे। जैसे ही टूर्नामेंट इन दोनों स्टेडियम से बाहर गया कोरोना संक्रमण फैल गया और इस साल का टूर्नामेंट रद्द करना पड़ा।

आईपीएल 2021 से पहले इस स्टेडियम में कोरोना बम भी फूट चुका था। अप्रैल के पहले सप्ताह में ही वानखेड़े स्टेडियम के 10 कर्मचारियों और प्रतियोगिता प्रबंधन से जुड़े छह सदस्य कोरोनावायरस से पॉजीटिव पाए गए थे।


इसके कुछ ही दिनों बाद तीन और मामले सामने आये थे जिसमें दो मैदानकर्मी और एक प्लंबर (नलसाज) शामिल था। हालांकि बीसीसीआई को आईपीएल 2021 के इस सत्र में 10 मैच वानखेड़े स्टेडियम में आयोजित करवाने थे जो टूर्नामेंट रद्द करने से पहले बिना बाधा के पूरे किए गए।(वार्ता)



और भी पढ़ें :