ट्विटर पर नरेंद्र मोदी स्टेडियम नाम से कई खुश तो कुछ हुए खफा

Last Updated: बुधवार, 24 फ़रवरी 2021 (15:38 IST)
अहमदाबाद: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम ‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम’ का यहां मोटेरा में औपचारिक उद्घाटन किया और इसके पास ही बनने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एनक्लेव का भूमिपूजन भी किया।

दुनिया के इस सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखा गया है।

इस मौक़े पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और खेल मंत्री किरण रिजिजु भी मौजूद थे। आज से ही इस स्टेडियम पर भारत और के बीच मौजूदा शृंखला का तीसरा टेस्ट शुरू होगा। जब 2016 में इसे पुनर्निर्माण के लिए ध्वस्त किया गया तो इसकी 54,000 दर्शकों की क्षमता थी और तब इसका नाम सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम था। अब इसका नया नामकरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर किया गया है जो पहले गुजरात क्रिकेट संघ के अध्यक्ष भी रहे थे।

नरेंद्र मोदी जिस तरह की शख्सियत हैं उनके फैंस से ज्यादा उनको नापसंद करने वाले हैं। ऐसे में जब मोटेरा स्टेडियम का नाम बदला गया तो ट्विटर पर कई लोग इस कदम से प्रफुल्लित लगे वहीं कुछ लोग नाराज लगे।

खुश होने वाले हैंडल्स का कहना था कि यह देश के लिए गर्व की बात है क्योंकि मोदी ने गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए भी बेहतरीन काम किया है। वहीं इस नामकरण के खिलाफ होने वालों का मानना था कि फिर कॉंग्रेस की आलोचना क्यों होती है जब राजीव गांधी और नेहरू के नाम से स्टेडियम बनाए जाते हैं।
नए क्रिकेट स्टेडियम का शिलान्यास जनवरी, 2018 में किया गया था। इसमें इंग्लैंड और भारत की टीमें चौथा टेस्ट मैच और कुल 5 टी ट्वेंटी मैच भी खेलेगी। दूसरी तरफ़ पास ही बनने वाला स्पोर्ट्स एनक्लेव 233 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा इसमें 12 हज़ार दर्शक क्षमता वाला एक इंडोर स्टेडियम भी होगा। भी 4600 करोड़ की लागत से केंद्र और राज्य सरकार की मदद से बनने वाले इस एनक्लेव का एक हिस्सा बन जाएगा। इसमें 12500 खेल प्रशिक्षुओं के लिए 3000 फ़्लैट वाले अपार्टमेंट भी होंगे और मेजर ध्यानचंद के नाम पर हॉकी का एक अत्याधुनिक स्टेडियम सह प्रशिक्षण केंद्र भी होगा।



और भी पढ़ें :