संन्यास के ठीक एक साल बाद क्या होगी क्रिकेट में वापसी? धोनी ने पहन ली है रेट्रो जर्सी (वीडियो)

Last Updated: शुक्रवार, 13 अगस्त 2021 (17:27 IST)
15 अगस्त 2020 का दिन सभी क्रिकेट फैंस को याद होगा। इस दिन भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से की घोषणा इंस्टाग्राम पर एक वीडियो के जरिए की थी। उन्होंने एक वीडियो पोस्ट कर कैप्शन लिखकर कहा था कि धन्यवाद, उस प्रेम और समर्थन के लिए। बहुत बहुत धन्यवाद। 1929 बजे से मुझे रिटायर समझें।

हालांकि अब ठीक एक साल बाद वह भारतीय टीम की रेट्रो जर्सी में दिखने वाले हैं। उनकी जर्सी का नंबर नहीं बदला है लेकिन रंग वर्तमान भारतीय क्रिकेट टीम की तरह ही हो गया है। गौरतलब है कि रेट्रो जर्सी साल 2020 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे से शुरु हुई थी जो कि काफी कुछ 1992 विश्वकप की जर्सी लगती है। इस वक्त तक महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट को अलविदा कह चुके थे।

एक अगरबत्ती ब्रांड ने अपने सोशल मीडिया चैनलों पर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नंबर सात रेट्रो जर्सी का टीजर जारी कर दिया है, जो हाल ही में वायरल हुआ था।
इस टीजर वीडियो ने संकेत दिया है कि कंपनी नवीनतम ब्रांड अभियान का अनावरण करने के लिए पूरी तरह तैयार है और टीवी विज्ञापन ‘ गेम चेंजर ’ होने पर सुर्खियों में है। इस ब्रांड अभियान का पूरी तरह अनावरण 15 अगस्त को किया जाएगा, क्योंकि पिछले साल इसी दिन धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी।
अगरबत्ती ब्रांड की ओर से जारी टीजर वीडियो, जिसे कोरियोग्राफर-फिल्म निर्माता फराह खान ने निर्देशित किया है, में धोनी को अपने ट्रेडमार्क स्वैगर की तरह क्रिकेट स्टेडियम में प्रवेश करते हुए दिखाया गया है। मशहूर फोटोग्राफर डब्बू रत्नानी ने ब्रांड कैंपेन के लिए धोनी के सभी लुक्स को शानदार तरीके से कैमरे में कैद किया है।

मैसूर डीप परफ्यूमरी हाउस (एमडीपीएच) के निदेशक ने एक बयान में कहा, “ कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी के साथ यह नया अभियान है। वह शांत आचरण के प्रतीक हैं जो देश के युवाओं के साथ बातचीत करते हैं। ”देखिए यह टीजर
भारत के लिए धोनी ने
350 वन-डे, 90 टेस्ट और 98 टी-20 मैच खेले। करियर के आखिरी चरण में वे खराब फार्म से जूझते रहे जिससे उनके भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जाती रहीं।

उन्होंने वन-डे क्रिकेट में पांचवें से सातवें नंबर के बीच में बल्लेबाजी के बावजूद 50 से अधिक की औसत से 10773 रन बनाए। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए और भारत को 27 से ज्यादा जीत दिलाई।

आंकड़ों से हालांकि धोनी के करियर ग्राफ को नहीं आंका जा सकता। धोनी की कप्तानी, मैच के हालात को भांपने की क्षमता और विकेट के पीछे जबर्दस्त चुस्ती ने पूरी दुनिया के क्रिकेटप्रेमियों को दीवाना बना दिया था।



और भी पढ़ें :