जैमिसन ने फिर बोल्ड किया शुभमन गिल को, तीसरे दिन का खेल खत्म होने से पहले तोड़ा शेन बॉंड का यह रिकॉर्ड

पुनः संशोधित शनिवार, 27 नवंबर 2021 (17:30 IST)
जैसे भारत के लिए कानपुर टेस्ट के दूसरे दिन श्रेयस अय्यर के शतक के अलावा भारत के लिए कुछ सही नहीं रहा था। वैसे ही आज तीसरे दिन के लिए काइल जैमिसन के रिकॉर्ड के अलावा कुछ खास नहीं रहा।

न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जैमिसन ने शुभमन गिल को दूसरी पारी में बोल्ड कर अपने ही देश के शेन बॉंंड का रिकॉर्ड तोड़ दिया। न्यूजीलैंड के लिए टेस्ट मैचों में सबसे पहले 50 विकेटों का रिकॉर्ड अब काइल जैमिसन के पास है। उन्होंने शुभमन गिल को पहली पारी में भी बोल्ड किया था।
तीसरे दिन का खेल समाप्त होने पर भारत का स्कोर एक विकेट पर 14 रन था और कुल बढत 63 रन की हो गई है। गिल दूसरे ही ओवर में एक के स्कोर पर का शिकार हुए। चेतेश्वर पुजारा नौ और मयंक अग्रवाल चार रन बनाकर खेल रहे थे।

कानपुर टेस्ट का तीसरा दिन रहा भारतीय स्पिनर्स के नाम

बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल के पांच विकेट की मदद से भारत ने पहले क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को न्यूजीलैंड को पहली पारी में 296 रन पर आउट करके बढत ले ली हालांकि दूसरी पारी में मेजबान ने सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल का विकेट जल्दी गंवा दिया।

तीसरे दिन का खेल भारतीय गेंदबाजों के नाम रहा। न्यूजीलैंड का स्कोर एक समय एक विकेट पर 196 रन था लेकिन बाद में नौ विकेट सौ रन के भीतर गिर गए। अक्षर ने दूसरे सत्र में उम्दा गेंदबाजी करते हुए न्यूजीलैंड को दबाव में ला दिया था । उन्होंने आखिरी सत्र में भी दो विकेट लिये।

भारत को मैच में लौटाने का श्रेय वैसे उमेश यादव को जाता है जिन्होंने लंच से ठीक पहले केन विलियमसन को सस्ते में आउट करके मेजबान को राहत दिलाई थी। अक्षर ने 34 ओवर में 62 रन देकर पांच विकेट लिये। उन्होंने दूसरे सत्र में 13 रन के भीतर रोस टैलर (11), हेनरी निकोल्स (दो) और टॉम लाथम (282 गेंद में 95 रन) को पवेलियन भेजा । आखिरी सत्र में उन्होंने टॉम ब्लंडेल (13) और टिम साउदी (पांच) को बोल्ड किया।अश्विन ने 42.3 ओवर में 82 रन देकर तीन विकेट लिये। रविंद्र जडेजा ने रचिन रविंद्र (13) को आउट किया

इससे पहले उमेश ने दूसरी नयी गेंद से कामयाबी हासिल की और आफ स्टम्प पर जाती उनकी गेंद पर विलियमसन चकमा खाकर पगबाधा आउट हो गए। उन्होंने 64 गेंदें खेलकर 18 रन बनाये । न्यूजीलैंड ने पहले सत्र में 68 रन जोड़े।

सलामी बल्लेबाज विल यंग पहले टेस्ट शतक से चूक गए और 218 गेंद में 89 रन बनाने के बाद अश्विन का शिकार हुए। विलियमसन क्रीज पर आने के बाद से सहज नहीं दिखे। उन्होंने हालांकि रविंद्र जडेजा को दो चौके लगाकर दबाव कम करने का प्रयास किया। अश्विन ने यंग को स्थानापन्न विकेटकीपर श्रीकर भरत के हाथों लपकवाया । यंग और लाथम ने पहले विकेट के लिये 151 रन जोड़े।यंग ने अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 15 चौके लगाये। वहीं लाथम ने फ्रंटफुट पर शानदार रक्षात्मक खेल दिखाया और ढीली गेंदों को नसीहत भी दी।

दूसरे सत्र में अक्षर ने शानदार गेंदबाजी की और बेहद खूबसूरत गेंद पर टेलर को आगे बढकर खेलने को मजबूर किया जिनका कैच विकेट के पीछे श्रीकर भरत ने लपका। निकोल्स स्वीप शॉट लगाने के प्रयास में पगबाधा आउट हुए। वहीं लाथम को भी आगे बढकर खेलने का खामियाता भुगतना पड़ा और भरत ने स्टम्पिंग करने में चूक नहीं की।



और भी पढ़ें :