आयरलैंड की ओर से खेला वनडे विश्वकप, इंग्लैंड की ओर से 'एशेज', अब इस गेंदबाज ने लिया संन्यास

पुनः संशोधित शनिवार, 22 मई 2021 (11:20 IST)
डबलिन: के अनुभवी तेज गेंदबाज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की है। वह पाकिस्तान के खिलाफ अपने पहले टेस्ट मैच में आयरलैंड का प्रतिनिधित्व करने वाले ग्यारह खिलाड़ियों में से एक थे।
आयरलैंड और के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले छह फुट सात इंच लम्बे रैंकिंन ने अपने करियर में तीन टेस्ट, 75 वनडे और 50 टी-20 मैच खेले हैं, जिसमें उनके नाम क्रमश: 8, 106 और 55 विकेट दर्ज हैं। 36 वर्षीय रैंकिन ने 2007 में आयरलैंड के लिए वनडे में पदार्पण कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था।
वह 2007 विश्व कप में अपनी शानदार गेंदबाजी की बदौलत 12 विकेट हासिल कर चर्चा में आए थे और उन्होंने पाकिस्तान तथा बंगलादेश के खिलाफ आयरलैंड को मिली ऐतिहासिक जीत में अहम भूमिका निभाई थी।
इसके पांच साल बाद वह आयरलैंड की टीम छोड़ कर इंग्लैंड की टीम में चले गए थे। फिर उन्होंने 2013 में इंग्लैंड की तरफ से आयरलैंड के खिलाफ ही वनडे पदार्पण किया और मुकाबले में चार विकेट लेकर इंग्लैंड को जीत दिलाई।
उल्लेखनीय है कि रैंकिन जनवरी 2014 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज में भी इंग्लैंड टीम का हिस्सा थे। इस सीरीज में उन्होंने अपना टेस्ट पदार्पण किया था। समझा जाता है कि 2016 टी-20 विश्व कप के बाद रैंकिन को लगा कि अब उन्हें इंग्लैंड के लिए खेलने का मौका नहीं मिलेगा।

ऐसे में उन्होंने दोबारा आयरलैंड की तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का फैसला किया। उन्होंने आयरलैंड के लिए अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच मार्च 2020 में खेला था। उन्होंने 2019 में अपना आखिरी टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ ही खेला था। इस मैच में वह आयरलैंड की तरफ से खेले थे। (वार्ता)



और भी पढ़ें :