गेंदबाज ऐसे ही रन लुटाते रहे तो टी-20 विश्वकप के सेमीफाइनल में पहुंचना मुश्किल

Last Updated: बुधवार, 21 सितम्बर 2022 (14:09 IST)
हमें फॉलो करें
मोहाली: भारतीय टीम के गेंदबाज एशिया कप से कमजोर कड़ी बने हुए हैं। एशिया कप में पाकिस्तान और श्रीलंका से हारने के बाद यह माना जा रहा था कि जसप्रीत बुमराह टीम में वापस आएँगे और सब ठीक हो जाएगा।

लेकिन दूसरे गेंदबाज उनका इंतजार करते रहे और मोहाली में ऑस्ट्रेलिया लगातार रन बनाते रहे। 3 विकेट निकालने वाले अक्षर पटेल के अलावा सभी गेंदबाज बेअसर रहे। से लेकर युजवेंद्र चहल तक सबने 11 रन प्रति ओवर की दर से रन दिए।

सबसे महंगे भुवनेश्वर कुमार रहे जिन्होंने 4 ओवरों में 52 रन दिए। वहीं लंबे समय बाद गेंदबाजी करने वाले ने भी 4 ओवर में 49 रन दिए। दोनों की मध्यमगति गेंदो को कंगारूओं ने आसानी से सीमा पार पहुंचाया।

तेज गेंदबाजी को इस तरह आसानी से खेलने के कारण भारतीय फैंस ने गेंदबाजों खासकर भुवनेश्वर कुमार

और हर्षल पटेल पर ही टीम इंडिया के फैंस का गुस्सा फूटा।

गेंदबाजो और क्षेत्ररक्षकों से नाराज हुए कप्तान रोहित शर्मा

भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया के हाथों पहले टी20 मैच में चार विकेट की हार के बाद खराब गेंदबाजी के प्रति निराशा जतायी। भारत ने मोहाली में खेले गये टी20 मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए 208 रन बनाये थे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने इस लक्ष्य को आसानी के साथ चार गेंदें रहते हुए हासिल कर लिया।

रोहित ने मैच के बाद कहा, "मुझे नहीं लगता कि हमने अच्छी गेंदबाजी की। 200 रन बचाव करने के लिए एक अच्छा स्कोर है, और हमने मैदान में अपने मौके का फायदा नहीं उठाया। हमारे बल्लेबाजों की ओर से बहुत अच्छा प्रयास था, लेकिन गेंदबाज काफी नहीं थे। हमें इन चीजों पर गौर करने की जरूरत है, लेकिन इस मैच से हम यह समझ सकते हैं कि हमने क्या गलतियां कीं।"

उन्होंने कहा, "आप अंतिम चार ओवरों में 60 रन बनाने के लिए खुद पर भरोसा कर सकते हैं। हम समय पर अतिरिक्त विकेट नहीं ले पाए। अगर हम एक और विकेट लेते तो हालात कुछ और होते। आप हर रोज 200 रन नहीं बना सकते, आपको अच्छी बल्लेबाजी करने की जरूरत है। हार्दिक ने हमें वहां पहुंचाने के लिए वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की। हमें अगले मैच से पहले अपनी गेंदबाजी पर गौर करना होगा।"



और भी पढ़ें :