न्यूजीलैंड में फैल रहा है कोरोना, लेकिन नहीं बदलेगा महिला वनडे विश्वकप का शेड्यूल

Last Updated: शुक्रवार, 28 जनवरी 2022 (16:31 IST)
दुबई: भले ही मेज़बान टीम न्यूज़ीलैंड ने ओमिक्रॉन के मद्देनज़र द्विपक्षीय सीरीज़ के मुक़ाबलों को स्थानांतरित किया है, लेकिन महिला वनडे विश्व कप अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही आगे बढ़ेगा। ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के कारण देश में रविवार को नए प्रतिबंध लगाए गए।

इस प्रतियोगिता की मुख्य कार्यकारी अधिकारी ऐंड्रिया नेल्सन ने टूर्नामेंट की शुरुआत से 35 दिन पहले इस बात की पुष्टि की। नेल्सन ने शुक्रवार को आईसीसी द्वारा आयोजित एक वर्चुअल मीडिया राउंडटेबल में कहा, "जैसा कि आप कल्पना कर सकते हैं, हमने पिछले 12 महीनों में कई आकस्मिक योजनाओं पर ग़ौर किया। फ़िलहाल हमारा विचार छह स्थानों के साथ इस शेड्यूल को बनाए रखने का है।"

ALSO READ:

टी-20 में शतक लगाने वाला अकेला बांग्लादेशी स्टार बल्लेबाज टी-20 विश्वकप 2022 से भी हुआ बाहर

उन्होंने कहा, "हम उन स्थानों के बीच यात्रा के दौरान जितना संभव हो सके उतने आकस्मिक उपाय खोज रहे हैं। न्यूज़ीलैंड में (मल्टी-टीम क्रिकेट प्रतियोगिता की मेज़बानी में) एक बात हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए कि हमारे मैदान भारतीय उपमहाद्वीप अथवा यूके के मैदानों से बहुत अलग हैं। हमारे पास ग्रास-बैंक और छोटे स्टेडियम हैं, जिनमें होटल नहीं बने हैं। तो यह हालिया समय में आयोजित क्रिकेट से एक बहुत ही अलग माहौल है।"

आठ टीमों वाली यह प्रतियोगिता माउंट मॉन्गानुई, हैमिल्टन, वेलिंगटन, ऑकलैंड, डुनेडिन और क्राइस्टचर्च में खेली जानी है। जबकि इस समय न्यूज़ीलैंड में सभी मैच (घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय) बंद दरवाज़े के पीछे खेले जा रहे हैं, महिला विश्व कप की आयोजक समिति ने दर्शकों के लिए सभी विकल्प खुले रखे हैं।

उत्तर और दक्षिण दोनों द्वीपों पर कोरोना मामले सामने आने के बाद न्यूज़ीलैंड में रविवार देर रात नए प्रतिबंध लागू हुए। फ़िलहाल के लिए स्थिति लॉकडाउन तक नहीं पहुंची है, लेकिन किसी भी आयोजन में केवल 100 लोगों को मौजूद रहने की अनुमति है। देश में आने वाले सभी व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से 10 दिनों तक सरकार की प्रबंधित क्वारंटीन और आइसोलेशन सुविधाओं में रहने की आवश्यकता होती है। 26 जनवरी को भारत न्यूज़ीलैंड पहुंचने वाली पहली प्रतिभागी टीम बनी।

नेल्सन ने आगे कहा, "आयोजन के संदर्भ में खिलाड़ियों के लिए कोई बदलाव नहीं आया है क्योंकि हम इसे सुरक्षित टूर्नामेंट बनाने के लिए आईसीसी के साथ योजना बना रहे थे। मुख्य रूप से ये बदलाव स्टेडियम के अंदर दर्शकों से जुड़े हुए हैं।"

उन्होंने कहा , "न्यूज़ीलैंड में इस समय केवल 100 लोगों को किसी कार्यक्रम में उपस्थित रहने की अनुमति है। इस समय हम यह देख रहे हैं कि हम इन सभी स्टेडियम में 100 लोगों के कितने समूह को शामिल कर सकते हैं। अंततः हमारा संदेश एक ही है - हम इन खिलाड़ियों को प्रदर्शन करने के लिए एक शानदार मंच तैयार करना चाहते हैं।"

महिला वनडे विश्व कप फ़रवरी और मार्च 2021 में खेला जाना था लेकिन कोरोना महामारी के चलते इसे स्थगित कर दिया गया था। यह पूछे जाने पर कि क्या इस समय टूर्नामेंट दोबारा स्थगित हो सकता है, नेल्सन ने कहा कि सभी योजनाएं अपनी पटरी पर हैं। "पहली टीम पहले से ही मैदान पर है। अगली टीम अगले सप्ताह आएगी। योजनाएं अच्छी तरह से आगे बढ़ी हैं। इस समय हमारे पास (संभावित स्थगन) पर कोई जानकारी नहीं है।"

गुरुवार को न्यूज़ीलैंड क्रिकेट ने ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के ख़तरे को टालने के लिए अपने घरेलू अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम के स्थानों में बदलाव किए। भारतीय महिला टीम के साथ होने वाली सीरीज़ के सभी छह मुक़ाबले अब क्वींसटाउन में खेले जाएंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पहला वनडे और इकलौता टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच नेपियर में खेला जाना था। दूसरा और तीसरा वनडे नेल्सन में होना था जबकि अंतिम दो वनडे मुक़ाबले क्वींसटाउन में आयोजित होने थे।

दक्षिण अफ़्रीका की पुरुष टीम के साथ दो टेस्ट मैचों की आगामी सीरीज़ भी अब क्राइस्टचर्च में खेली जाएगी। ऑस्ट्रेलिया की पुरुष टीम के विरुद्ध तीन टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच अब नेपियर में होंगे जबकि नीदरलैंड्स की पुरुष टीम के साथ सफ़ेद गेंद की सीरीज़ माउंट मॉन्गानुई और हैमिल्टन में खेली जाएगी।(वार्ता)



और भी पढ़ें :