Harmanpreet Kaur ने पूनम यादव का लोहा माना, कहा- अब हम दो-तीन खिलाड़ियों पर निर्भर नहीं हैं

indian women t20 world cup team
Last Updated: शुक्रवार, 21 फ़रवरी 2020 (21:12 IST)
सिडनी। हरमनप्रीत कौर ने लेग स्पिनर की जमकर तारीफ करते हुए के पहले मैच में मेजबान ऑस्ट्रेलिया पर जीत के बाद कहा कि प्रत्‍येक खिलाड़ी के योगदान देने के कारण उनकी टीम खिताब की प्रबल दावेदार बन गई है। पहले हम दो-तीन खिलाड़ियों पर निर्भर थे लेकिन अब हम टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।
भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 132 रन बनाए लेकिन इसके बाद पूनम यादव (19 रन देकर चार) और शिखा पांडे (14 रन देकर तीन) ने टीम को अच्छी वापसी दिलाई और ऑस्ट्रेलिया को 19.5 ओवर में 115 रन पर आउट करके 17 रन से जीत दर्ज की।

हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा, पूनम जैसी गेंदबाज ने आगे बढ़कर जिम्मेदारी संभाली। हमें उनसे चोट से उबरने के बाद शानदार वापसी की उम्मीद थी। हमारी टीम अच्छी दिख रही है। पहले हम दो-तीन खिलाड़ियों पर निर्भर थे लेकिन अब हम टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। अगर हम टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो निश्चित तौर पर विश्व कप जीत सकते हैं।

भारतीय कप्तान ने कहा कि पिच बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं थी और इसलिए उन्हें वापसी की उम्मीद थी। उन्होंने कहा, टूर्नामेंट का पहला मैच जीतना सुखद अहसास है। हम जानते थे कि इस विकेट पर हम अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। अगर हम 140 रन बना देते हैं तो गेंदबाज अपनी भूमिका निभा सकते हैं।

हरमनप्रीत ने कहा, विकेट बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं था। जेमी (जेमिमा रोड्रिग्स) और दीप्ति (शर्मा) के बीच साझेदारी महत्वपूर्ण रही। मैं 130 रन के पार पहुंचने से खुश थी। इस स्कोर का हमारी गेंदबाज बचाव कर सकती थी।

ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग ने कहा कि बीच के ओवरों में साझेदारी नहीं निभा पाने के कारण उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा। लैनिंग ने कहा, हमारे सामने 133 रन का लक्ष्य था और आधे ओवरों तक हमने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन बीच के ओवरों में साझेदारी नहीं निभा पाना हमारे खिलाफ गया।

लैनिंग ने कहा कि भारतीयों ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की और वे जीत के हकदार हैं। पूनम को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए मैच की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया। वह मैच में हैट्रिक से चूक गईं लेकिन उन्होंने आगामी मैचों में यह उपलब्धि हासिल करने की उम्मीद जताई।

उन्होंने कहा, यह तीसरा अवसर है जबकि मैं हैट्रिक से चूक गई लेकिन मेरे फिजियो और साथियों का आभार जो मैं चोट से उबर पाई। उम्मीद है कि भविष्य में मैं हैट्रिक लेने में सफल रहूंगी।




और भी पढ़ें :