इन 3 भारतीय खिलाड़ियों की फिटनेस है संदेह के घेरे में, क्या खेल पाएंगे अंतिम टेस्ट?

Last Updated: शनिवार, 8 जनवरी 2022 (14:14 IST)
हमें फॉलो करें
तीसरे टेस्ट के लिए बिसात बिछ चुकी है। पहला टेस्ट भारत ने 113 रनों से जीता तो दक्षिण अफ्रीका ने दूसरा टेस्ट जीतकर 7 विकटों से वापसी की। अब नजरें तीसरे टेस्ट पर होंगी जो खेला जाएगा में।

भारत के लिए दूसरे टेस्ट में हार से ज्यादा चिंता इस बात पर खिलाड़ियों की फिटनेस ज्यादा चिंता का विषय रहेगा। तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया एक फिट टीम खिलाना चाहेगी। कुछ खिलाड़ियों की फिटनेस अभी तक संदेह के घेरे में है।

विराट कोहली- भारतीय टीम के नियमित टेस्ट कप्तान विराट कोहली के कारण में हुए दूसरे टेस्ट से चूक गए थे।

दूसरे टेस्ट के कप्तान राहुल और कोच राहुल ने यह प्रेस कॉंफ्रेस में कहा था कि नियमित कप्तान विराट कोहली दिन ब दिन अच्छा महसूस कर रहे हैं। राहुल द्रविड़ ने उन्हें थ्रो डाउन भी किया था और कुछ देन उन्होंने नेट्स में बल्लेबाजी भी की। हालांकि कोहली अपनी फिटनेस को हमेशा तरजीह देते हैं और अगर उन्हें जरा सा भी संदेह हुआ तो वह तीसरे टेस्ट में नहीं खेलेंगे।

ALSO READ:

भारत के खिलाफ अंतिम टेस्ट में भी दूसरे टेस्ट के जीत का फॉर्मूला अपनाएंगे दक्षिण अफ्रीकी कप्तान

अगर कोहली वापस आते हैं, तो इसका मतलब यह हो सकता है कि भारत की दूसरी पारी में नाबाद 40 रनों की पारी खेलने वाले हनुमा विहारी की बेंच पर वापसी हो सकती है। भारत ने अपने सीनियर बल्लेबाज़ों का समर्थन करना जारी रखा। विहारी को श्रेयस अय्यर की जगह पहली पसंद रखा गया।

मोहम्मद सिराज- दूसरे टेस्ट में मोहम्मद सिराज की हैमस्ट्रिंग इंजुरी से भारत के दूसरे टेस्ट में जीत की संभावना लगभग आधी हो गई थी। पहली पारी के दौरान उन्हें यह चोट लगी और दोनों ही पारियों में उनकी गेंदो से धार गायब होने लगी।

पूरे मैच में वह एक भी विकेट नहीं ले पाए। पहली पारी में उन्होंने 9.5 ओवर की गेंदबाजी की और 24 रन दिए इसके बाद उन्होंने दूसरी पारी में 6 ओवर में 37 रन लुटाए।

तीसरे टेस्ट में बाहर बैठने की सबसे ज्यादा संभावना सिराज की ही है क्योंकि यह चोट ठीक होने में काफी वक्त लेती है। उनकी जगह इशांत शर्मा को तीसरे टेस्ट में मौका दिया जा सकता है।

जसप्रीत बुमराह- पहले टेस्ट में जसप्रीत बुमराह की दाईं एड़ी मुड़ गई थी। बावजूद इसके उन्होंने दूसरे टेस्ट खेला लेकिन वह रंग में नहीं दिखे। जिसकी कीमत भारत को हार से चुकानी पड़ी।

कार्यभार प्रबंधन के तहत जसप्रीत बुमराह को भी बाहर बैठाया जा सकता है। बुमराह ने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 21 ओवरों में 49 रन देकर 1 विकेट लिया था। दूसरी पारी में 17 ओवर में 70 रन देकर वह एक भी विकेट नहीं ले पाए।

जसप्रीत बुमराह को आराम देने का निर्णय जोखिम भरा हो सकता है क्योंकि पिछले 3 साल से वह भारत के प्रमुख तेज गेंदबाज है खासकर विदेशी दौरों पर और यह अंतिम टेस्ट होने वाला है जो सीरीज का नतीजा तय करेगा।

अगर बुमराह को बाहर बैठाया जाता है तो उमेश यादव को मौका मिल सकता है। वह अपनी तेजी से दक्षिण अफ्रीका में कमाल दिखा सकते हैं लेकिन कई दफा उनकी दिशाहीन गेंदबाजी की कई बार आलोचना हुई है।



और भी पढ़ें :