न्यूजीलैंड को मिली सौरव गांगुली की कार्बन कॉपी, समानताएं देख आप भी रह जाएंगे हैरान

Last Updated: शनिवार, 5 जून 2021 (11:44 IST)
क्रिकेट के गलियारों में फिलहाल न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉनवे के नाम का डंका बजा हुआ है। वाकई में अपने टेस्ट डेब्यू के दौरान ही कॉनवे ने ऐसा कुछ कर दिखाया, जो कई सारे खिलाड़ी अपने पूरे करियर के दौरान नहीं कर पाते। टेस्ट डेब्यू पर दोहरा शतक लगाकर वाकई में कीवी टीम के खिलाड़ी ने एक नया इतिहास लिखा।

डेवोन कॉनवे ने के मैदान पर के खिलाफ 347 गेंदों का सामना करते हुए 200 रन बनाए। अपनी इस पारी में उन्होंने 22 चौके और एक छक्का भी जड़ा। जानकारी के लिए बता दें कि टेस्ट डेब्यू पर दोहरा शतक लगाने वाले कॉनवे न्यूजीलैंड के सिर्फ दूसरे और विश्व के सातवें खिलाड़ी बने।
सोशल मीडिया पर कॉनवे अपनी यादगार पारी के साथ-साथ टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के कारण भी चर्चा का एक अहम विषय बने हुए हैं। दरअसल,कॉनवे और गांगुली के बीच एक नहीं बल्कि कई समानताएं देखने को मिल रही है।
आइये डालते हैं, एक नजर आखिरी क्यों डेवोन कॉनवे की तुलना सौरव गांगुली से देखने को
मिल रही है-
- कॉनवे और सौरव गांगुली का जन्मदिन एक ही दिन पड़ता है। दोनों का जन्म 8 जुलाई को हुआ और दोनों ही बाएं हाथ से बल्लेबाजी भी करते है।

- दोनों ही खिलाड़ियों ने अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू वेस्ट इंडीज के खिलाफ किया था।

- दोनों ही खिलाड़ियों का टेस्ट डेब्यू भी इंग्लैंड और लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर देखने को मिला था।

- सबसे खास बात दोनों ही बाएं हाथ के खिलाड़ियों ने अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में शतक बनाया।
- गांगुली का एकदिवसीय कैप नंबर 84 था और कॉनवे का टी-20 कैप नंबर 84 है।

हालांकि, सौरव गांगुली टेस्ट क्रिकेट में मध्यक्रम में बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे, लेकिन डेवोन कॉनवे ओपनिंग बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं।

बात अगर इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच की करें तो कीवी टीम ने अपनी पहली पारी में 378 का स्कोर बनाया था और फ़िलहाल मेजबान टीम का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 111 रन है। दोनों टीमों के बीच तीसरे दिन का पूरा खेल बारिश में धुल गया था।



और भी पढ़ें :